युवावर्ग बनेगा नीतीश कुमार के सुशासन का गवाह, 11 जुलाई को जदयू के राष्ट्रीय महासचिव की वर्चुअल रैली के लिए कसी कमर

नालंदा (बिहार)हरनौत- विगत 15 वर्ष के लालू-राबड़ी शासनकाल और 2005-20 तक नीतीश कुमार के सुशासन का आने वाला विधानसभा चुनाव का परिणाम मील का पत्थर होगा। जहां पहले शासनकाल में युवावर्ग की आकांक्षाओं को कुचला जाता था। वही, नीतीश कुमार के शासनकाल में उन्हें मजबूती दी गई। शिक्षा, खेल और रोजगार के क्षेत्र में बैंक व अन्य संस्थानों की सहायता से सृजनात्मक काम किया गया। इसी वजह से विपक्षी छाती पीट रहे हैं। देश-प्रदेश में गलत अफवाहें फैलाई जा रही है।
युवा जदयू के कार्यकर्ता इस बार उन्हें मुंहतोड़ जवाब देने वाले हैं। ये बातें जिलाध्यक्ष सन्नी कुमार पटेल ने कही। वे टेलीफोनिक व फेसबुक प्ले के माध्यम से जिला भर के जिला, प्रखंड, पंचायत व वार्ड स्तरीय कार्यकर्ताओं से जुड़े।
उन्होंने बताया कि आगामी 11 जुलाई को पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सह युवा संगठन प्रभारी आरसीपी सिंह वर्चुअल रैली कर युवा कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ायेंगे। साथ ही मिशन 2020 के लिए तैयार करेंगे। उन्होंने वर्चुअल रैली में चार हजार युवा कार्यकर्ताओं के शामिल होने की बात कही।

रिपोर्ट – गौरी शंकर प्रसाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0