बिहार में दूध के उत्पादन में श्वेत क्रांति आई है : संजय कुमार

बिहार में दूध के उत्पादन में श्वेत क्रांति आई है : संजय कुमार

सुधा डेयरी के दूध की कीमत में होगी बढ़ोतरी

156 दूध उत्पादकों के बीच एक लाख 18 हजार रूपए की बोनस राशि और 40 गरीबों के बीच कम्बल व वस्त्र वितरित

रिपोर्ट- कुमार सुबिद

शेखपुरा- शुक्रवार को सदर प्रखंड अंतर्गत मेहुस गांव में हरलिया दुग्ध उत्पादक सहयोग समिति द्वारा आयोजित बोनस वितरण सह वस्त्र व कम्बल वितरण समारोह को मुख्य अतिथि पद से संबोधित करते हुए वैशाल पाटलिपुत्र दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लिमिटेड बिहार पटना के अध्यक्ष संजय कुमार ने कहा कि हाल के सात – आठ वर्षों के अंतराल बिहार में दूध के उत्पादन और उपलब्धता के क्षेत्र में श्वेत क्रांति आई है।

जिसके कारण आज राज्य में हर पर्व , त्योहारों , समारोहों आदि जरूरत के क्षेत्र में दूध की कमी नहीं खल रही है। उन्होंने कहा कि दुग्ध उत्पादन में बढ़ोतरी के लिए अच्छे नशल के गाय का पालन करना , उसके लिए हरा चारा की व्यवस्था करना तथा उसके देखरेख और उचित इलाज की नितांत जरूरत है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार भी। डेयरी के विकास के लिए हर जिलों में किसानों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से गबय विकास विभाग द्वारा पचास प्रतिशत के अनुदान पर ऋण मुहैया करा रही है।उन्होंने कहा कि उत्पादक किसानो को दूध की कीमत ज्यादा देने पर समिति विचार कर रही है और बहुत जल्द ही दूध की कीमत में बढ़ोतरी की जाएगी। वितरण समारोह को सहकारी समिति के प्रबन्ध निदेशक नारायण ठाकुर , प्रबन्धक संग्रहण विमल कुमार झा ,पत्रकार यूनियन के जिला महासचिव नवीन कुमार , वासुकी प्रसाद , जिला गबय विकास पदाधिकारी श्री निराला , मुखिया चितरंजन कुमार , सेवानिवृत्त शिक्षक राजेन्द् प्रसाद ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में आगत अतिथियों का स्वागत हरलीया दुग्ध सहयोग समिति के सचिव।

विपिन कुमार झा ने किया। समारोह में 156 दुग्ध उत्पादकों के बीच एक लाख अठारह हजार रुपए का बोनस राशि और पुरस्कार वितरण किया गया। जबकि समिति की ओर से गांव के 40 अत्यन्त गरीब महिला और पुरुष के बीच कम्बल और वस्त्र वितरित किया गया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0