प्रधानमंत्री किन-किन राज्यों को मुफ्त कोरोना वैक्सीन नहीं देंगे : राजेश राठौड़

किन-किन राज्यों में कोरोना वैक्सीन मुफ्त नहीं मिलेगी: राजेश राठौड़

पटना । बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कैबिनेट के मीटिंग के बाद कहा कि बिहार में कोरोना वैक्सीन मुफ्त देने की योजना पर वें काम कर रहें हैं। इस बात पर चुटकी लेते हुए कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता राजेश राठौड़ ने कहा कि प्रधानमंत्री और उनकी पार्टी कोरोना वैक्सीन के नाम पर कई राज्यों में ताबड़तोड़ चुनावी रैलियां कर आयें हैं। अब उनके सहयोगी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी उनकी ही राह पर लोगों को लुभाने में लगे हैं। देश के प्रधानमंत्री और बिहार के मुख्यमंत्री दोनों को ये स्पष्ट कर देना चाहिए कि आखिर किन-किन राज्यों में ये कोरोना वैक्सीन मुफ्त में नहीं बांटी जाएगी और किन-किन राज्यों में ये मुफ्त में बांटी जाएगी। उन्होंने नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष किया कि कांग्रेस के नेता राहुल गांधी जी के बातों को पहले ही मान लेते और समय रहते सचेत हो जाते तो वें कोरोना को भारतीय सीमा में घुसने से रोक सकते थे लेकिन उन्होंने “नमस्ते ट्रम्प” करने में देश को आर्थिक और सामाजिक तौर पर भयाक्रांत करते हुए लॉकडाउन में झोंक दिया। बिहार से लेकर हैदराबाद के निकाय चुनावों तक में कोरोना वैक्सीन को राजनीतिक संजीवनी के रूप में इस्तेमाल करने वाले नरेंद्र मोदी ने बंगाल के लोगों को भी मुफ्त वैक्सीन का जुमला दिया है। उन्होंने आगे कहा कि बिहार सरकार ये स्पष्ट करें कि कोरोना वैक्सीन का खर्च राज्य सरकार वहन कर रही है या केंद्र सरकार के तरफ से ये मुफ्त आएगी। उन्होंने भाजपा और जदयू को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि किसानों के मामले पर से ध्यान भटकाने को रोज नए राजनीतिक जुमले उछाले जा रहें हैं। उन्होंने कहा कि वैक्सीन लगाने वाले भाजपा नेता और हरियाणा के मंत्री नाजुक हालत में हैं तो क्या ये वैक्सीन बिहार के लोगों पर ट्रायल को आ रहा है या ये सच में कारगर भी होगी।

रिपोर्ट – राज कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Shares