जाने क्या है औरंगाबाद के कारागार का सच

औरंगाबाद । वैसे तो बिहार में कई सारे कारागार है लेकिन आज हम बात करेंगे औरंगाबाद मंडल कारा की जहां कैदियों के साथ अक्सर न सिर्फ आमनवीय व्यवहार किया जाता है, बल्कि उस अमानवीय व्यवहार के खिलाफ यदि कोई आवाज़ उठाता है तो उसके साथ मारपीट भी किया जाता है। ऐसा हम नहीं कह रहे हैं बल्कि जेल प्रबंधन पर लगाये जा रहे ये आरोप मंडल कारा में बंद उन कैदियों के हैं

जिनके साथ ऐसा अमानवीय व्यवहार किया जाता रहा है। सिर्फ इतना ही नहीं ,बीमार कैदियों को इलाज़ की सुविधा तक उपलब्ध नहीं कराई जाती है।भगीरथ प्रयास के बाद जेल प्रबंधन की तरफ से इलाज़ की इज़ाज़त मिलने के बाद अपना इलाज़ करवाने सदर अस्पताल पहुंचे वकील नाम के एक कैदी ने बताया कि पिछले 15 दिनों से दांत के दर्द से वह परेशान है। इतने दिनों से वह खाना तक नहीं खा पाया है मगर बार बार मिन्नतों के बावजूद उसका इलाज़ नहीं करवाया गया। आज जब पानी सर से ऊपर हो गया तब आनन् फानन जेल प्रशासन ने इलाज़ के लिए उसे सदर अस्पताल भेजा है। वहीँ कैदी वकील के इन आरोपों को प्रभारी जेल अधीक्षक फ़तेह फ़ैयाज़ ने सिरे से नकार दिया और कहा कि चुनाव को लेकर जो थोड़ी सख्ती बरती जा रही है उसी के खिलाफ कैदियों का यह पैंतरा है।

औरंगाबाद से धीरेन्द्र पाण्डेय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0