बिहार यूथ हॉस्टल,बैंक एवं बंगाली एसोसिएशन के रामायण प्रसाद के निधन को लेकर शोक की लहर

हरदिल अजीज सदाबहार सहज हंसमुख व्यक्तित्व के धनी थे दादा रामायण प्रसाद

पटना | यूथ हॉस्टल एसोसिएशन ऑफ इंडिया,बिहार स्टेट ब्रांच के राज्य कोषाध्यक्ष रामायण प्रसाद ने मंगलवार की रात को सिलीगुड़ी के एक नर्सिंग होम में अंतिम सांस ली | यूथ हॉस्टल एसोसिएशन ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष मो.शफी पंडित,चेयरमैन

एस.वेंकट नारायणन ,सीईओ रुपेश कुमार पाण्डेय,कोषाध्यक्ष, मनोज जोहरी , डेवलपमेंट कमिटी चेयर मैन चिप्पा जी ,बिहार एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष मोहन कुमार, चेयरमैन के. एन. भारत, उपाध्यक्ष नील कमल रॉय और राज कुमार प्रसाद, संगठन सचिव मधुकर एवं सचिव ए. के. बोस ने श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि इनके असामयिक निधन से यूथ हॉस्टल परिवार के सदस्यगण मर्माहत हैं | एसोसिएशन ने एक कुशल मार्गदर्शक और सदस्य को खो दिया है | कोरना संक्रमण के काल में जान की परवाह किये बिना उहोंने घूम-घूम कर गरीबों के बीच राहत सामग्री और पुर्णियां जिला अस्पताल के स्वास्थ्यकर्मियों के बीच स्वास्थ किट का वितरण करते रहे हैं | आम्रपाली यूनिट की संतोष भारत,मीना कुमारी,ऋचा आनंद सोना,रूचि भारत,उनका अचानक जाना एसोसिएशन के लिए एक अपूरणीय क्षति है|

स्व. प्रसाद के निधन पर बंगाली एशोसिएशन के अध्यक्ष अजय सान्याल ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि बंगाली समाज के लोग रामायण दा के व्यवहार और सेवा भावना को कभी भूल नहीं पाएंगे |

राज्य उपाध्यक्ष ए. के. बोस ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि हमने एक कर्मठ और सरल व्यक्तित्व धारण करने वाले समाजसेवी को खो दिया है जो हमेशा लोगों के दुख दर्द में आगे रहते थे | पुर्णियां जिला स्टेट बैंक पेंशनर एशोसिएशन की स्टेट बैंक

ओर से शोक व्यक्त में कहा गया है कि हमने स्टेट ऑफ इंडिया के पेंशनर एसोसिएशन के उप महा सचिव के रूप में एक सच्चा सेवक खो दिया है | यूथ होस्टल्स एशोसिएशन,बिहार के प्रदेश संगठन सचिव सुधीर मधुकर ने बताया कि स्व.रामायण प्रसाद बड़े सपनों के साथ आगामी नबम्बर महिना में अपनी बेटी के शादी रचाने वाले थे,पर होनी तो कुछ और ही था | दादा की बेटी अपराजिता डेंटिस्ट है |

बेटा बाबू बंगलुरु में इंजीनियर है | बड़ी बेटी की शादी इंजीनियर से हुयी है जो बंगलुरु में है

उनकी एक कविता ..जो बस सबों को सन्देश दे गया…..

समस्या से कदापि न मानो हार,

विजय की है यही पुकार,

चाहे जमाने की हो फटकार,

न मानो तुम हार, न मानो तुम हार !

देखना, विजय अवश्य होगी तुम्हारे द्वार !!

दादा रामायण प्रसाद के निधन पर अनेक देश के अन्य राज्यों के बिभिन्न संगठनों से जुड़े लोगों सहित आम लोगों में राजस्थान राज्य सचिव रतन सिंह भाटी, झारखंड राज्य सचिव मनोज भौमिक, असम राज्य सचिव मारामी, चेयर मैन शर्मा, बंगाल राज्य चेयर मैन रवि शंकर पाल ने भी दुख जताया है | इस के आलावा प्रमोद दत्त,रजनी शंकर, डॉ.ध्रुव कुमार,चंद्रशेखर भगत,सुदीप सोनी, ,डॉ.अर्चना सिंह,नवाब आलम,शलमान कहाँ,मणि शंकर,प्रभाषचन्द्र वर्मा,संगीता सिन्हा,राजेश कुमार सहाय,शैलेश गुप्ता,रंजीत मिश्र,संजीव कुमार जवाहर, सत्यकाम सहाय,विभा सिन्हा,मनीष कुमार, नवीन सैनिक,अलोक नन्दन,रिम्पी रंजन,चन्दन कुमार, ,एकता वर्मा ,तिलोकी नाथ उपाध्याय,रामप्रकाश,रंजन सिन्हा,नीरज कुमार, भरत पोद्दार,आशुतोष श्रीवास्तव,अजय कुमार, भीम सिंह, संजय कुमार आदि ने शोक प्रकट किया है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0