विकास से नाराज साहित्यकारों ने उतारा प्रत्याशी, कहा प्रजातांत्रिक व्यवस्था में जनता के हित से बड़ा कोई अन्य आकांक्षा नहीं

मुजफ्फरपुर । बिहार विधानसभा चुनाव 2020 जैसे-जैसे नजदीक आता जा रहा है। वैसे-वैसे अब नए चेहरे भी सामने आने लगे हैं और वहीं अब साहित्यकारों और बुद्धिजीवि शहर के विकास ना होने को लेकर काफी नाराज हैं। जिसके कारण इस बार उन्होंने अपना उम्मीदवार उतारा है। इस बार खुदीराम बोस स्मारक स्थल पर प्रेस वार्ता कर साहित्यकार संजय पंकज को अपना उम्मीदवार बनाया है। इस मौके पर ही साहित्यकार संजय पंकज ने कहा कि मैं प्रजातांत्रिक व्यवस्था में विश्वास रखते जनता की आवाज बनूंगा। इससे ज्यादा मेरी आकांक्षा नहीं है और इस शहर के ही हर तबके को कैसे सुव्यवस्थित किया जा सकता है।इसकी निष्ठा और संकल्प के साथ मै प्रयास करता रहूंगा साथ ही कहा है कि बिहार दिन प्रतिदिन पिछड़ता जा रहा है। चाहे लाख हम लोग विकसित कह लें, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है। जैसे मुजफ्फरपुर को सांस्कृतिक राजधानी कहा जाता है, लेकिन यहां पर सांस्कृतिक कर्मियों के लिए कोई मंच नहीं है। ऐसे में ही इनके साथ आम जन के विकास के लिए संकल्पित रहेंगे।

रिपोर्ट – विशाल कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0