पशु आरोग्य मेला में विभिन्न विभागों एवम संस्थानों के लगे स्टॉल

कृषि के क्षेत्र पिपरा कोठी को मिल चुकी उपलब्धि राज्यपाल

संवाददाता: रविशंकर मिश्रा

मोतिहारी । कृषि विज्ञान केंद्र परिसर में गुरुवार से आयोजित पशु आरोग्य मेला में राष्ट्रीय स्तर के करीब दर्जनभर से ज्यादा संस्थाओं के स्टॉल लगाए गए।जिसमे घोलु डेयरी डिडवारी पानीपत हरियाणा, जिला कृषि कार्यालय, जिला उद्यान कार्यालय, केशव फिड हाउस, बिहार सरकार के गन्ना उधोग, बापूधाम मिल्क प्रोड्यूसर, चम्पारण गुड, राष्ट्रीय डेयरी अनुसन्धान संस्थान करनाल, बिहार पशु विज्ञान विश्वविद्यालय, कृषि विज्ञान केंद्र पूषा सहित दो दर्जन संस्थानों के द्वारा अपने संस्थान के द्वारा अपने उत्पाद और अपने संस्थान की विशेषता बताया जा रहा थी ।कृषि के क्षेत्र में पीपराकोठी किसान के एक कृषि धाम के रूप में विकसित होने को अग्रसर है। इसके पूर्व महज कृषि विज्ञान केंद्र संचालित था। जो डेढ़ दशक पूर्व केविके का कार्यालय वर्तमान एसएसबी कैम्प वाले परिसर में संचालित हुआ करता था। लेकिन पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह के पहल से इसका विकास हुआ। अपना प्रसाशनिक भवन बना। धीरे धीरे इसका विकास होता गया और अब यहाँ करीब दर्जनभर से अधिक कृषि और पशुपालन से जुड़े संस्थान संचालित है ।

पंडित दीनदयाल उपाध्याय बागवानी एवं वानिकी विश्वविद्यालय, ब्राजील के सहयोग से पशु प्रजनन एवं उत्कृष्टता केंद्र, छात्रावास, महिला छात्रावास, पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा, सरदार बल्लभ भाई पटेल कृषि सहकारी संस्थान, अतिथि भवन समेकित मधुमक्खी पालन विकाश केंद्र, मधुमक्खी बक्सा निर्माण इकाई, गुड़ प्रसंस्करण इकाई, हाई टेक बम्बू नर्सरी, बीज बिक्री केंद्र, फल एवं सब्जी प्रसंस्करण इकाई, बॉक्स प्रसंस्करण इकाई, मशरूम उत्पादन सह प्रत्यक्षन इकाई, किसान सभागार, दलहन बीज प्रसंस्करण इकाई, महिला कौशल विकास भवन, राष्ट्रीय बीज निगम का केंद्र विकसित समेकित कृषि प्रणाली इकाई, पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा, पूर्व पीएम स्व अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा, अटल द्वार, केविके परिसर में स्थापित है इसके साथ महात्मागांधी राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान संस्थान, और उसी परिसर ने महात्मा गांधी की प्रतिमा स्थापित है।उनके परिसर में ही राष्ट्रीय स्मारक ध्वज, प्रसाशनिक भवन, कर्पूरी ठाकुर किसान प्रशिक्षण संस्थान, पंडित कैलाशपति मिश्र कृषक सभागार, गौवंश स्मारक स्थापित है। उक्त बातें महामहिम राजपाल फल्गु चौधरी ने पशु आरोग्य मेला उद्घाटन के अवसर बोले ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0