पटना एम्स में विश्व विकलांगता दिवस के जागरूकता सप्ताह के समापन के अवसर पर कार्यक्रम का हुआ आयोजन।

मुख्य अतिथि के रूप में संबोधन करते हुए डीएम ने दिव्यांगजनों के हितों एवं अधिकारों की सुरक्षा, संरक्षण एवं संवर्धन के प्रति जागरूक करते हुए उन्हें समाज की मुख्यधारा में लाने का किया आह्वान।

मेडिकल संस्थानों में दिव्यांगजनों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने की आवश्यकता पर दिया बल।

डीएम द्वारा कोरोना योद्धाओं को प्रमाण पत्र प्रदान कर किया गया सम्मानित।

विश्व विकलांगता दिवस के अवसर पर दिव्यांगजनों को जागरुक एवं प्रेरित करने हेतु जागरूकता सप्ताह का आयोजन किया गया। इसके माध्यम से दिव्यांग जनों के लिए सरकार द्वारा संचालित योजनाओं कार्यक्रमों उनके हितों एवं अधिकारों के बारे में लोगों को अवगत कराया गया।

कार्यक्रम का आयोजन पटना एम्स के पीएमआर विभाग द्वारा किया गया तथा संचालन पीएमआर विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ संजय पांडे ने किया।

इस कार्यक्रम के माध्यम से एम्स पटना के पीएमआर विभाग द्वारा दिव्यांगों के उपचार एवं उनके पुनर्वास की सुविधाओं के बारे में अवगत कराया गया साथ ही मेडिकल कॉलेज एवं अन्य चिकित्सीय संस्थानों में दिव्यांगों के उपचार एवं पुनर्वास के प्रति लोगों को संवेदनशील होकर पुनीत कर्तव्य मानकर प्राथमिकता देने के औचित्य पर प्रकाश डाला गया।

इस कार्यक्रम में जिलाधिकारी ने मुख्य अतिथि पद से बोलते हुए दिव्यांग जनों के हितों एवं अधिकारों का ध्यान रखने तथा अधिकतम सुविधा प्रदान कर समाज की मुख्यधारा से जोड़ने की आवश्यकता पर बल दिया।

कार्यक्रम में जिलाधिकारी के कर कमलों के द्वारा कोरोना योद्धा के रूप में कई डॉक्टरों को प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया।

कोविड-19 के वर्तमान दौर में दिव्यांग जनों को और अधिक सुविधाएं प्रदान करने की जरूरत पर बल दिया गया। इस पर टेलीमेडिसिन की सुविधा के संबंध में विशेष व्याख्यान दिया गया।

इस अवसर पर निदेशक एम्स पटना प्रोफेसर डॉ पी के सिंह, डीन एम्स पटना प्रोफ़ेसर उमेश भदानी ,प्रोफ़ेसर नीरज अग्रवाल डीन एम्स बीबीनगर सहित अन्य कई संकाय के सदस्यों ने भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0