नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती को ज्ञान भारती विद्या निकेतन, हनुमाननगर रोड भोराहाबसा में पराक्रम दिवस के रूप में मनाया गया

The birth anniversary of Netaji Subhash Chandra Bose was celebrated as Parakram Divas at Gyan Bharati Vidya Niketan, Hanumannagar Road Bhorahabasa

खगड़िया : बेलदौर नेता जी सुभाष चंद्रबोस की जयंती ज्ञान भारती विद्या निकेतन हनुमाननगर रोड, भोराहाबसा में बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया।उक्त आयोजन में विद्यालय परिवार के सभी सदस्य मौजूद थे।सभा को संबोधित शिक्षक प्रशांत कुमार,विजय शर्मा, प्राचार्य रणधीर कुमार ने किया। सभा को संबोधित करते हुए विद्यालय के डायरेक्टर ऋषव कुमार ने कहा कि हमारे देश में कई ऐसे महापुरूष हुए हैं, जिनके जीवन और विचार से हम सभी को बहुत कुछ सीखने को मिलता है। उनके विचार ऐसे हैं कि निराश व्यक्ति भी अगर उसे पढ़े तो उसे जीवन जीने का एक नया मकसद मिल सकता है।


इन्‍हीं में से एक हैं नेताजी सुभाषचंद्र बोस थे। उनका जन्म 23जनवरी सन 1897 को उड़ीसा के कटक में हुआ था। उन्होंने आज़ाद हिंद फ़ौज एवं दुनिया की पहली महिला फ़ौज की गठन की थी । उन्होंने कलकत्ता विश्वविद्यालय से दर्शन शास्त्र में ऑनर्स किये।उनके प्रसिद्ध नारे “तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आज़ादी दूंगा”थे।वे गरम दल के नेता थे। उनके दिए भाषणों से पूरी दुनिया आज भी प्रेरणा पाती है। वो महज 48 वर्ष की उम्र में ही दुनिया को अलविदा छोड़ गए।इतिहास का मानना है कि वे18अगस्त1945को ताइवान में विमान दुर्घटना में मारे गए।आंदोलन के महान नायक के125 जयंती के मौके पर विद्यालय के डायरेक्टर ऋषव कुमार सहित चेयरमैन सीतेश कुमार, वरीय शिक्षक विजय बाबू, प्रशांत कुमार, प्रिंस कुमार, चंदकिशोर कुमार, पप्पू कुमार, स्मृति कुमारी, रंजन राज,ममता मैडम ,गजेंद्र कुमार,शंकर झा सहित सभी कर्मी मौजूद थे।

रिपोर्ट – मो. साजिद सुलेमानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0