नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं की जयंती का साई कॉलेज ऑफ टीचर्स ट्रेनिंग, ओनामा के प्रांगण हुआ आयोजन

The 125th birth anniversary of Netaji Subhash Chandra Bose was organized in the premises of Sai College of Teachers Training, Onama

रिपोर्ट- कुमार सुबिद

शेखपुरा- आज़ाद हिन्द फौज के संस्थापक नेताजी सुभाष चंद्र बोस जी की 125वीं जयंती को बड़े ही धूम – धाम के साथ साई कॉलेज ऑफ टीचर्स ट्रेनिंग ओनामा, शेखपुरा के प्रांगण में मनाया गया । नेता जी की जयंती के अवसर पर महाविद्यालय के विभागाध्यक्ष बालदेव प्रसाद के द्वारा महान विभूति को श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया एवं दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। नेताजी के जन्मदिन के अवसर पर महाविद्यालय के प्रशिक्षुओं के द्वारा भाषण एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया , इस अवसर पर महाविद्यालय के अध्यक्ष अंजेश कुमार ने प्रशिक्षु शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आजादी दूंगा, जय हिंद, जैसे नारे से प्रेरित कर देश को आजादी दिलाने वाले नेता जी सुभाष चंद्र बोस ने अंग्रेजो को अपने देश वापस जाने के लिए मजबूर कर दिया। इस अवसर पर महाविद्यालय के सहायक प्राध्यापक सर्वेश कुमार राय, रविंद्र कुमार, राकेश गिरी, विश्वजीत कुमार ने अपने भाषण के माध्यम से कहाँ की सुभाष चन्द्र बोस हमारे देश के गरम दल के नेता थे । इनसे ब्रिटिश हुकुमत थर – थर काँपती थी । इन्होंने सिंगापुर से आजाद हिन्द फौज के कमांडर के रूप में अंगेजो को कड़ी चुनौती दी ऐसे महापुरुष को शत – शत नमन । महाविद्यालय के प्रशिक्षु गौरव कुमार, निधि कुमारी, अभिषेक कुमार आदि ने भी अपने-अपने भाषण के माध्यम से नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के योगदान के बारे में बताया। इस कार्यक्रम में प्रशाखा पदाधिकारी राजा राम, रघुवीर शंकर,कंप्यूटर संकाय से आसित अमन,कुमार हर्षवर्धन,सीताराम सिंह पुस्तकालय अध्यक्ष प्रियंका कुमारी, चांदनी कुमारी एवं अदीबा आजमी की भी उपस्थिति रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0