संवाददाता : रविशंकर मिश्रा

मोतिहारी । सचिव स्वास्थय विभाग बिहार पटना ने vc के माध्यम से सभी जिला अधिकारीयों के साथ कोरोना के बढ़ते संक्रमण की रोकथाम हेतु तैयारियों की समीक्षा वीसी के माध्यम से किया । एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

उन्होंने निर्देश दिया कि अनुमंडल स्तर पर आइसोलेशन सेंटर का निर्माण किया जाए।जिला स्तर पर भी आइसोलेशन सेंटर का निर्माण किया जाए। आइसोलेशन सेंटर का निर्माण शिक्षा विभाग के संस्थानों को छोड़कर किया जाए। उन्होंने सभी जिलाधिकारी से बारी बारी से तैयारियों की समीक्षा की। जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक ने अपने जिले की तैयारियों के बारे में विस्तार पूर्वक बताया। उन्होंने कहा कि मुंबई /महाराष्ट्र से ट्रेन से आने वाले यात्रियों का कोरोना टेस्ट किया जा रहा है उसके बाद उन्हें जाने दिया जा रहा है, पोजिटिव आने पर उन्हें होम आइसोलेशन मे भेजा जा रहा है और प्रॉपर निगरानी रखा जा रहा है।उन्होंने कहा कि आइसोलेशन सेंटर तैयार कर लिया गया है।

उन्होंने कहा कि प्रतिदिन टार्गेट के अनुरूप वैक्सिंग लगाया जा रहा है तथा टेस्ट की भी संख्या बढ़ाई गई है।उन्होंने कहा कि 15 अप्रैल को आरटी पीसीआर टेस्ट हेतु केंद्र का संचालित हो जाएगा। rtpcr टेस्ट का सैम्पल बाहर नहीं भेजना पड़ेगा। जिलाधिकारी ने बताया कि जिले मे कुल एक्टिव केस 183 है, जिसमें आइसोलेशन सेंटर में 6 होम आइसोलेशन मे 171और 6 बाहर रेफर किया गया है। रोजाना लगभग 6 हजार सैंपल कलेक्शन होता है।अभी,11 प्रखंडों पोजिटिव केस मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0