मोकामा स्टेशन एवं मोकामा-दानापुर सटल में उड़ रही कोरोना से बचाव के दिशा निर्देशों की धज्जी।

पटना । कोरोना संक्रमण ने पूरी दुनिया में तबाही मचा दी है।लाखों लोगों को अपनी जिंदगी से हाथ धोना पड़ा। भारत में भी लाखों की संख्या लोग कोरोना से संक्रमित हुए।बड़ी संख्या में मौत हुई।हमारी सरकार इस महामारी से लड़ने में प्रयासरत नजर आई।लेकिन कोरोना ने हमारे देश और प्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खोलकर रख दी।बिहार में तो प्रखंड, अनुमंडल और यहाँ तक कि जिला स्तर के भी अधिकतर अस्पतालों की स्थिति चिंताजनक है।जहां आपातकालीन कोई भी व्यवस्था नहीं हैं।

कोरोना संक्रमण से बचाव के मद्देनजर पूरे देश में ट्रेनों के परिचालन को बंद कर दिया गया था।जिसे धीरे धीरे पुनः चलाया जा रहा है।अब पर्व को लेकर कई पसेंजर ट्रेनों को फिर से शुरू किया गया था।इसी क्रम में 22 अक्टूबर से कई मेमू पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन शुरू किया गया।रेलवे के द्वारा कोरोना संक्रमण को लेकर कई दिशा निर्देश भी दिए गए।लेकिन ट्रेनों में किसी भी निर्देश का पालन नहीं हो रहा।ट्रेनों में इतनी भीड़ चल रही है कि खड़े होने तक की जगह नहीं है। मोकामा स्टेशन पर न तो टेम्परेचर की जांच की जा रही है न ही कोरोना से बचाव के निर्देशों का पालन करवाने के लिए सख्त कदम उठाए जा रहे हैं।

रिपोर्ट – विक्रांत कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0