अवैध रूप से रैयती जमीन की घेराबंदी होते देख ग्रामीणों ने किया विरोध प्रदर्शन।

  • बीएमपी नाइन जमालपुर के कब्जे से जमीन को मुक्त नहीं कराया तो करेंगे आत्मदाह।
  • एसडीओ के नोटिस के बाद भी बाउंड्री वॉल निर्माण कार्य है जारी।

मुंगेर(जमालपुर) : बीएमपी नाइन क्षेत्र से सटे दर्जनों ग्रामीणों के रैयती जमीन को एसडीओ के निर्देश के खिलाफ बीएमपी नाइन प्रशासन के सहमति से संवेदक के द्वारा घेराबंदी किए जाने का पीड़ित ग्रामीणों ने विरोध करते हुए सामूहिक आत्मदाह करने की धमकी दी है।

वर्ष 1930 से 2021 तक अपने रैयती जमीन का लगान देने वाले रामनगर निवासी सुभाष सिंह,अमरेश सिंह,अतुल सिंह,मनोहर सिंह,शेखर सिंह,जितेंद्र कुमार,कैलाश सिंह,रघुनाथ सिंह,उमाकांत सिंह सहित दर्जनों ग्रामीणों ने बताया कि हम लोगों के पूर्वजों कि जमीन पर बीएमपी नाइन प्रशासन के बल पर बिहार पुलिस कंस्ट्रक्शन विभाग के संवेदक जबरदस्ती अवैध रूप से बाउंड्री वॉल लाठी डंडे एवं वर्दी के बल पर करवा रहे हैं।जबकि न्यायालय ने उक्त जमीन पर 144 की कार्रवाई करते हुए यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया है।

इतना ही नहीं सदर एसडीओ के द्वारा ईस्ट कॉलोनी थाना एवं अंचलाधिकारी को भी इस मामले को लेकर नोटिस करते हुए जवाब तलब किया है।इसके बावजूद बीएमपी प्रशासन अगर हमारे जमीन पर बाउंड्री वॉल का निर्माण करवाती है तो हम लोग सामूहिक रूप से आत्मदाह करेंगे।

इधर बीएमपी समादेष्टा रंजीत कुमार मिश्रा ने बताया कि बिहार पुलिस कंस्ट्रक्शन विभाग के द्वारा बाउंड्री वॉल कार्य बीएमपी 9 परिसर में करवाया जा रहा है।किसी के निजी जमीन पर नहीं हो रहा है।अगर विरोध हो रहा है तो इसकी जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

रिपोर्ट – विवेक कुमार यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Shares