पटना सचिवालय थाना अध्यक्ष की गुंडागर्दी, महिलाओं को बोला जाओ बाप को बुला कर लाओ।

Patna : बिहार की राजधानी पटना में प्रदेश पुलिस का बेहद ही अशालीन चेहरा सामने आया है. पटना सचिवालय में कार्यरत एक सरकारी महिला कर्मचारी मोबाइल झपटमारी की शिकायत देने सचिवालय थाने पहुंची थीं. लिखित शिकायत देने के बाद उन्‍होंने रिसीविंग मांगा. इस पर सरकारी महिला कर्मचारी से थानेदार की नोकझोंक हो गई. इससे उस वक्‍त थाने में तैनात थानेदार साहब को इतना गुस्‍सा आया कि वह अपनी मार्यादा ही भूल बैठे. महिला कर्मचारी का आरोप है कि थानेदार ने उन्‍हें हाजत में बंद करने का आदेश देते हुए अपने बाप को बुलाने तक की बात कह डाली. अब इस मामले ने तूल पकड़ लिया है.दरअसल, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जब प्रदेश की सत्‍ता संभाली थी तो उन्‍होंने पुलिस की छवि को बेहतर करने की काफी कोशिश की थी. शुरुआत में पुलिसवालों ने उनके कथन का पालन भी किया, लेकिन बाद में ढाक के तीन पात वाली कहावत चरितार्थ हो गई. पुलिस का जनता के प्रति रूखे व्‍यवहार की खबरें आए दिन आती रहती हैं. ऐसा ही एक मामला पटना सचिवालय के सचिवालय थाने में सामने आया है. महिला कर्मचारी के साथ अभद्र व्‍यवहार से पटना पुलिस की छवि पर गंभीर सवाल उठे हैं.थानेदार का महिला से अभद्र व्‍यवहार जानकारी के अनुसार, पटना सचिवालय में काम करने वाली एक महिला का सचिवालय के ही गेट नंबर-2 के पास मोबाइल झपट लिया गया. महिला ने यह बात अपने विभाग के लोगों को बताई और दूसरी महिला सहकर्मी के साथ शिकायत दर्ज कराने सचिवालय थाना पहुंच गईं. सचिवालय थाना में उस वक्त थानाध्यक्ष सीपी गुप्ता मौजूद थे. सचिवालय में काम करने वाली महिला सरकारी कामकाज के तौर-तरीकों से अवगत थीं, लिहाजा उन्‍होंने लिखित आवेदन दिया. महिला ने उसके बाद आवेदन पर रिसीविंग मांगने लगीं. उनकी इस बात को लेकर थानेदार सीपी गुप्ता से नोकझोंक होने लगी. इस दौरान थानेदार साहब इतना नाराज हो गए कि उन्‍होंने महिला के सवाल पूछने पर उन्‍हें हाजत में बंद करने का आदेश दे दिया. बात इतने पर ही नहीं थमी तो थानेदार यह करते नजर आए कि अपने बाप को भी बुला लो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Shares