बारिश से पटना वासी हुए बेहाल, सीएम नीतीश ने लिया कई इलाकों का जायजा

News Desk: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को पटना में जलजमाव से निपटने के लिए की गई तैयारियों का लिया जायजा।सीएम नीतीश दिन के 11 बजे पटना नगर निगम के सात अलग-अलग क्षेत्रों का दौरा कर रहे हैं। सीएम का यह दौरा पाटलिपुत्र कॉम्प्लेक्स, योगीपुर संप हाउस और ड्रेनेज, पहाड़ी ड्रेनेज, बादशाही पइन, बस टर्मिनल बैरिया, और गांधी सेतु इलाके में होगा।

मानसून की सक्रियता के कारण राजधानी पटना समेत बिहार के अधिकांश भागों में झमाझम बारिश हो रही है। अगले तीन दिनों तक कई जिलों में झमाझम बारिश होगी। पटना में रात साढ़े नौ बजे से रात करीब दो बजे तक बारिश होती रही। कभी तेज तो कभी धीमी। फिर उसके बाद शुक्रवार को भी सुबह से कभी हल्की तो कभी तेज बारिश हो रही है। बारिश के कारकई निचले मोहल्ले में गलिया डूब गईं, सड़कों पर जलजमाव हो गया। पटना के राजवंशी नगर, राजेन्द्र नगर, कंकड़बाग, बाईपास दक्षिणी इलाकों में जलजमाव के कारण काफी परेशानी हो रही है। गुरुवार को पटना का अधिकतम पारा 33.4 एवं न्यूनतम तापमान 27.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

पिछले वर्ष हुए पटना में जल प्रलय को देखते हुए इस बार नगर निगम विशेष तैयारी का दावा किया था। नगर निगम क्षेत्र में बारिश के मौसम में जलजमाव के साथ अन्य समस्याओं को दूर करने के लिए नियंत्रण कक्ष की स्थापना की है। नियंत्रण कक्ष 16 जून से लेकर 15 अक्टूबर तक 24 घंटे कार्य करेगा और पटना के लोगों की शिकायत सुन कर उसे दूर करेगा। इस संबंध में कार्यालय आदेश जारी किया गया है।

पिछले 24 घंटे में राज्य में सर्वाधिक बारिश औरंगाबाद में हुई। औरंगाबाद के 70 मिमी बारिश के अलावे देव, सुपौल, मधेपुरा, श्रीपालपुर, ठाकुरगंज, रामनगर में भी 30 मिलीमीटर से ज्यादा बारिश दर्ज हुई है। गया में 12.6, भागलपुर में 3.6 एवं पूर्णिया में 12.4 मिलीमीटर बारिश हुई।गुरुवार को अरवल में चार घंटे बारिश हुई। पटना मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार अगले तीन दिनों तक राज्य में मूसलाधार बारिश होने के आसार है। अगले 24 घंटों में अररिया, किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, बांका, भागलपुर और इसके आसपास के जिलों में काफी बारिश होगी। गुरुवार को पटना में मौसम का अलग अलग रंग दिखा। नमी की वजह से वातावरण में आद्र्रता 98 प्रतिशत रही। पटना में पिछले चौबीस घंटे में 9.7 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई। राजधानी के आकाश में सुबह से ही बादल मंडरा रहे थे। दिन में रिमझिम बारिश हुई।

रातभर कंकड़बाग और राजेंद्र नगर के लोग जागते रहे। पिछली बार जलप्रलय झेल चुके लोग सहम गए। कई लोगों की रात बड़ी मुश्किल से कटी। रात में बॉलकनी से लोग सड़कों की हालत देख रहे थे। कोई फेसबुक पर तो कोई वाट्सएप पर पोस्ट डॉल रहे था कि सुबह में नाव की जेसीबी की जरूरत तो नहीं पड़ेगी। इधर, फुलवारीशरीफ और अनीसाबाद के भी कई मोहल्लों में जलजमाव हो गया। बेऊर के निचले इलाके में पानी भर गया।

केंद्रीय विधि मंत्री एवं पटना साहिब के भाजपा सांसद रविशंकर प्रसाद ने गुरुवार को नालों की साफ-सफाई और सम्प हाउस का जायजा लिया। पिछले साल हुए जलजमाव की पुनरावृत्ति इस बार नहीं हो, इस बाबत निर्देश दिया। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि गलियों व मोहल्लों में छोटे पम्पों को भी रखा जाए, ताकि तुरंत जलनिकासी की जा सके। निगम के अवकाश प्राप्त कर्मचारियों, जिन्हें पुराने नालों की विस्तृत जानकारी है, उनकी भी सेवा ली जाएं। निरीक्षण के दौरान भाजपा विधायक अरुण कुमार सिन्हा, संजीव चौरसिया और नितिन नवीन, आयुक्त हिमांशु शर्मा, बुडको के प्रबंधक निदेशक रमन कुमार उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0