पत्रकार सुरक्षा कानून के लिए हर जिले में अभियान चलाएगी एनयूजेआई बिहार : रंजीत तिवारी

पटना : अखबारों और चैनलों में पत्रकारों की छंटनी, वेतन कटौती, फर्जी मुकदमों में गिरफ्तारी, उत्पीड़न, पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने और मीडिया कांउसिल के गठन की मांग को लेकर विधानसभा चुनाव के बाद बिहार के हर जिले में जनजागरण अभियान चलाएगी नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स इंडिया की बिहार इकाई । उक्त बातें शुक्रवार को पटना के सिन्हा लाईब्रेरी रोड स्थित अदिति काॅमनीटी हाॅल में एनयूजेआई बिहार के प्रदेश कार्य समिति की बैठक को संबोधित करते हुए बिहार प्रदेश संयोजक रंजीत तिवारी ने कहीं । उन्होंने कहा कि पत्रकारों के हित और कल्याण के लिए बड़े पैमाने पर कार्य करने की आवश्यकता है।


बैठक का संचालन करते हुए बिहार प्रदेश के सह संयोजक नवीन सिंह परमार ने कहा कि इस कोरोना संकट के समय आर्थिक समस्या से परेशान मीडियाकर्मियों को केंद्र और राज्य सरकारों के द्वारा तत्काल आर्थिक पैकेज देना चाहिए । रूपेश रंजन सिन्हा ने कहा कि कोरोना काल में छंटनी का शिकार बने पत्रकारों और कर्मचारियों के सामने आर्थिक संकट पैदा हो गया है। जिलों और छोटे कस्बों में काम करने वाले पत्रकारों को तो वेतन ही नहीं मिल रहा है। ऐसे में केंद्र और राज्य सरकारें आर्थिक तौर पर संकट का सामना कर रहे पत्रकारों को एकमुश्त आर्थिक सहायता देने की व्यवस्था कराएं।

बैठक में बिहार पंद्रह जिलों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। इस मौके पर बिहार में पत्रकार हित से जुड़े कई महत्वपूर्ण मुद्दे पर सदस्यों ने गंभीर चर्चा की।बैठक में डॉ सुधीर कुमार सिंह, खुशबू कुमारी, बिनय कुमार मालवीय, आशीष कुमार, विनोद कुमार सिंह, मृत्युंजय कुमार पांडेय, आंनद कुमार झा, नलिनी भारद्वाज, विक्रांत कुमार, विवेक यादव, विशाल कुमार, रविन्द्र कुमार सिन्हा सहित अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Shares