प्रवासी मजदूरों के लिए नीतीश कैबिनेट का बड़ा फैसला, जानिए क्या है फैसला..

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज लॉक डाउन में पहली बार सीएम आवास से बाहर निकले हैं।मुख्यमंत्री ने आज संवाद में कैबिनेट की बैठक बुलाई थी।कोरोना संकट में मुख्यमंत्री अब तक वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हीं कैबिनेट की बैठक करते आये हैं। लेकिन आज पहली बार सभी मंत्रियों के साथ मंत्रिमंडल की बैठक हुई। नीतीश कैबिनेट की बैठक में आज कुल 25 एजेंडों पर मुहर लगी है। कोरोना संक्रमन में अप्रवासी मजदूरों को रोजगार देने के लिए बड़ा फैसला लिया गया है। 5 एकड़ तक के जलाशयों का मनरेगा के तहत जीर्णोद्धार होगा। कोरोना संक्रमण में अप्रवासी मजदूरो को रोजगार देने के लिए सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। ग्रामीण इलाकों में सार्वजिनक जल संचयन जैसे तालाब आदि का जीर्णोद्धार मनरेगा के तहत होगा। 5 एकड़ तक के जलाशयों का मनरेगा के तहत जीर्णोद्धार कराने पर नीतीश कैबिनेट ने सहमति दे दी है। मनरेगा मजदूर जीर्णोद्धार का कार्य करेंगे।

बिहार सरकार ने आज 11 डॉक्टरों को सेवा से बर्खास्त किया है।पिछले कई सालों से अनुपस्थिति की वजह से सरकार ने उन्हें बर्खास्त किया गया है।डॉ याकूब सांगा की बर्खास्तगी पर मुहर लगी है।झारखण्ड में तैनात हैं डॉक्टर सांगा। कैडर डिवीजन के बाद झारखंड में कार्यरत है डॉक्टर सांगा। झारखंड बंटवारे के बाद गए हैं झारखंड।

नीतीश कैबिनेट की बैठक में आज जन्म और मृत्यु रजिस्ट्रेशन नियमावली में संशोधन किया गया है। 1999 के नियम 9 और 10 में किया गया बदलाव। जन्म रजिस्ट्रेशन का लेट फी माफ करने का एलान .सरकार ने बिहार जन्म और मृत्यु रजिस्ट्रेशन नियमावली 1999 के नियम 9 और 10 में किया संशोधन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0