एनएच – 80 मुख्य सड़क गड्ढे में हुआ तब्दील ,भ्रष्टाचार का भेंट चढ़ा 41 करोड़ का एनएच – 80 मुख्य सड़क

रिपोर्ट – अरविंद कुमार

भागलपुर । भागलपुर सबौर से कहलगांव के बीच 41 करोड़ से बने 31 किलोमीटर वाली एनएच 80 भ्रष्टाचार की भेंट चढ गई है| सड़क पूरी तरह गड्ढों में तब्दील हो चुका है| सबौर से रामजनीपुर एनएच 80 के 31 निर्माण का ठेका फलका इंफ्रा को मिला था| कंपनी ने एनएच का निर्माण कर इसे विभाग को सौंप दिया| लेकिन सड़क बनने के साथ ही टूटने लगी थी| वहीं एनएच 80 पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है भागलपुर से कहलगांव जाने में एक घंटे के बदले अब छः घंटे लगते हैं रोजमर्रा वाहन का लंबी कतार लगी रहती है पुलिस प्रशासन लगी लंबी कतारों को सड़क पर झांकना मुनासिब नही समझते हैं।

वाहन चालक अपनी जान हथेली पर लेकर सड़कों पर बने विशाल खतरनाक गड्ढे को पार करने के लिए मजबुर है| ये हाल इंजीनयरिंग कालेज से लेकर कहलगांव तक नवनिर्मित एनएच 80का है।एक्सक्यूटिव इंजीनियर की मानें तो कंपनी ने निर्माण कार्य में सिर्फ खानापूर्ति ही किया| वर्ना सड़क कि ये दुर्दशा कदापि नहीं होती यह सर्वथा सत्य है| जनता की गाढ़ी कमाई यूं ही भ्रष्टाचार कि भेंट चढ गई | मामले में कार्रवाई केवल पत्र लिखने तक ही सीमित रहा| आखिर निर्माण कार्य पारदर्शिता के साथ कराने कि जिम्मेवारी किसकी है,यह बड़ा प्रश्न यथावत कायम है| नेता हो या अधिकारी या फिर निर्माण एजेंसी हर कोई एक दूसरे पर जिम्मेवारी डालने में मशगूल है| इन सब के बीच जिलेवासियों को जल्द सड़क कि मरम्मती करवाने का आश्वासन जरूर मिल रहा है|वहीं कहलगांव राजद अध्यक्ष बासुकी यादव ने सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए डबल इंजन की सरकार को विकास के नाम पर लीपापोती और विकास को नाश कर जनता के साथ धोखाधडी़ कर जनता को बरगलाने की बात कह रही है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0