सांसद गया के द्वाराजिला स्तरीय समन्वय एवं अनुश्रवण समिति की बैठक में दिए गए कयी दिशा निर्देश

गया । गया में जिला ग्रामीण विकास अभिकरण अंतर्गत जिला स्तरीय समन्वय एवं अनुश्रवण समिति “DISHA” की बैठक सांसद गया विजय कुमार की अध्यक्षता में आयोजित की गई जिसमें ग्रामीण विकास विभाग की जन सरोकार से जुड़ी योजनाओं पर जनप्रतिनिधियों द्वारा विस्तार से विचार विमर्श करते हुए अपने क्षेत्र अंतर्गत इन योजनाओं को और अधिक प्रभावी तरीके से क्रियान्वयन कराने का अनुरोध किया गया है।सबसे पहले इस बैठक में सर्वप्रथम जिला पदाधिकारी सह सचिव जिला स्तरीय समन्वय एवं अनुश्रवण समिति, दिशा, गया के द्वारा अध्यक्ष, विधायकगण, विधान पार्षदगण, प्रखंड प्रमुखगण सहित अन्य जनप्रतिनिधियों एवं पदाधिकारियों को बैठक में भाग लेने हेतु स्वागत किया तथा अध्यक्ष से बैठक की कार्यवाही प्रारंभ करने का अनुरोध किया गया है। अध्यक्ष ने सभी सदस्यों का स्वागत किया गया।
इस बैठक मैं मुख्य रूप से मनरेगा, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना, प्रधानमंत्री /मुख्यमंत्री ग्रामीण सड़क योजना, जीविका, समेकित बकरी एवं भेड़ पालन योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल योजना, स्वच्छ भारत मिशन, दीनदयाल ग्रामीण विद्युतीकरण योजना, दीनदयाल ग्रामीण कौशल योजना, ग्रामीण कार्य विभाग से संबंधित विभिन्न सड़क परियोजना, स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत शौचालय निर्माण घर का सम्मान, मुख्यमंत्री वास स्थल क्रय सहायता योजना, सामाजिक सुरक्षा अंतर्गत विभिन्न  पेंशन योजनाएं सहित अन्य योजनाओं पर विस्तार से चर्चा की गई है।आज इस बैठक में मुख्य रूप से ग्रामीण सड़कों के निर्माण पर चर्चा करते हुए म जनप्रतिनिधियों ने अपने क्षेत्र अंतर्गत विभिन्न ग्रामीण सड़कों के निर्माण पर जोर दिया गया है।
 

इस बैठक में मनरेगा के संबंध में बताया गया कि 2,64,776 जॉब कार्ड निर्गत किये गए तथा श्रमिक मज़दूरों के रूप में 12,150.1 लाख की राशि खर्च की गई है। कुल-1,48,970 योजनाओं को प्रारंभ किया गया, जिसमे 69,119 योजनाएं प्रगति पर हैं। कुल-1,68,312 लोगों को रोजगार दिए गए हैं। वहीं
जीविका के बारे में इस बैठक में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के बारे में बताया गया कि माह अप्रैल, 2020 से नवंबर, 2020 तक कुल 3,525 सहायता समूह गठित किये गए। इस प्रकार अब तक कुल- 42613 सहायता समूह गठित किए गए हैं। समूहों से जुड़े कुल परिवारों की संख्या-502087 है तथा अबतक 38270 समूहों के बैंक खातें खोले गए हैं।आज इस बैठक में मुख्य रूप से बताया गया कि जीविका समूहों के लिए वित्त पोषण के मामलें में अपेक्षाकृत सहयोग नहीं किया जा रहा है। सांसद सह अध्यक्ष द्वारा एल०डी०एम० को निदेश दिया गया कि संबंधित बैंकों से समन्यवय स्थापित कर कार्रवाई करें।इस बैठक में विधायक, प्रखंड प्रमुख, शहरी निकायों के जन प्रतिनिधियों, नगर पंचायत के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष द्वारा अपने क्षेत्र की समस्याओं के बारे में बताया गया है।
  

इस बैठक में जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि सड़कों की स्थिति के बारे में सूची बनाकर उपलब्ध कराए, उस पर कार्रवाई की जाएगी। आगे इस
बैठक में बताया गया कि ग्रामीण कौशल योजना के सम्बंध में माननीय सांसद सह अध्यक्ष द्वारा निदेश दिया गया कि वे ग्रामीण क्षेत्र में चल रहे विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रम, रोजगार मेला में जनप्रतिनिधि को जानकारी दें, तथा बैठक/ कार्यशाला में शामिल होने का अनुरोध करें। इसके अंतर्गत बताया गया कि वर्ष 2020-2021 में 45 रोजगार मेला का आयोजन किया गया है, जिसमें 2,598, युवाओं द्वारा रोजगार जॉइन किया गया है। अब तक 2,556 युवाओं को इस योजना अंतर्गत प्रशिक्षित किया गया है। समेकित बकड़ी एवं भेड़ पालन योजना के संबंध में जन प्रतिनिधि द्वारा अनुरोध किया गया कि इस योजना का प्रचार प्रसार व्यापक रूप से कराया जाए तथा अन्य प्रखंडों में भी इस योजना के क्रियान्वयन की कार्रवाई की जाए।ज़िला पदाधिकारी ने जिला पशुपालन पदाधिकारी को निदेश दिया कि शेष प्रखंडों में इस योजना को चलाने हेतु शीघ्र कार्रवाई करें।आगे बताया गया कि सौरऊर्जा को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से जीविका दीदी के माध्यम से 6,40,237 लक्ष्य के विरुद्ध 6,35,051 सोलर लैंप वितरित किया गया है ग्रामीण कार्य विभाग, कार्य प्रमंडल-01 द्वारा प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के अंतर्गत वर्ष 2008-09 से 2019-20 तक 301 पथों की स्वीकृति के विरुद्ध 278 ग्रामीण सड़क पूर्ण किये गए हैं। इसी प्रकार मुख्यमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के अंतर्गत 18 पथों को पूर्ण किया गया है तथा 37 में कार्य चल रहा है। जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि एन०एच० 83 के निर्माण में हो रहे विलम्ब अब समाप्त हो गया है। नये संवेदक द्वारा इसी सप्ताह में डोभी से जहानाबाद तक कार्य प्रारंभ किये जायेंगे। एनएचएआई के कोई भी प्रतिनिधि बैठक में उपस्थित नहीं रहने के कारण कई बिंदुओं पर चर्चा नहीं हो सकी है। कई जनप्रतिनिधियों द्वारा एनएचएआई से संबंधित चर्चा में कठिनाई उत्पन्न हुई।अध्यक्ष ने इस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है।इस बैठक में उप विकास आयुक्त द्वारा बताया गया कि प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत जो लोग अबतक छूट गए है उसकी सूची तैयार की जा रही है। जांचोपरान्त उसे आवास एप्प पर अपलोड किया जायेगा।शहरी विकास एवं आवास विभाग अन्तर्गत विभिन्न फेज़ों में अबतक 5,965 आवासों की स्वीकृति दी गयी है, जिसमें पहली किस्त के रूप में 3,985 लाभुकों को उनके बैंक खातें में भेजी गई है। दूसरी क़िस्त के रूप में 3,297 तथा तृतीय क़िस्त के रूप में 2,259 लाभुकों को उनके बैंक खातें में राशि दी गयी है। साथ ही 1,703 आवासों को पूर्ण किया गया है।
  
प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत अब तक 25521 लक्ष्य के विरुद्ध 10028 मकान को पूर्ण किया गया है इस प्रकार कुल उपलब्धि 47.62% है। मुख्यमंत्री वास स्थल क्रय सहायता योजना अंतर्गत अब तक 334 भूमिहीन परिवारों की संख्या के विरुद्ध 189 लाभुकों को लाभ पहुंचाया गया है।स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण घर का सम्मान योजना के तहत शहरी क्षेत्रों में अब तक 11213 लाभुकों को लाभ पहुंचाया गया है तथा 13658 शौचालय पूर्ण किए गए हैं साथ ही प्रखंडों में सामुदायिक शौचालय निर्माण के तहत अब तक 372 सामुदायिक शौचालय का निर्माण किया गया है, जिसमें जियो टैगिंग का कार्य पूर्ण किया जा चुका है।

इस बैठक में जिला पदाधिकारी सह सचिव जिला स्तरीय समन्वय एवं अनुश्रवण समिति “दिशा”अभिषेक सिंह, अध्यक्षा जिला परिषद गया श्रीमती करुणा कुमारी, विधायकगण, विधान पार्षदगण, महापौर गया नगर निगम के प्रतिनिधि उप महापौर, प्रखंड प्रमुखगण,नगर आयुक्त गया नगर निगम सावन कुमार, जिला वन पदाधिकारी अभिषेक कुमार,उप विकास आयुक्त सुमन कुमार सहित सभी विभागों के जिला स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

रिपोर्ट – धीरज गुप्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0