राष्ट्रीय सम्मान समारोह 2021 एवं बाल उड़ान हुआ संपन्न

National Honor Ceremony 2021 and Bal Udaan concluded

पटना : दीदी जी फाउंडेशन के बैनर तले कालिदास रंगाले के प्रेक्षागृह में बाल उड़ान एवं राष्ट्रीय सम्मान समारोह 2021 का रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन हुआ । नव वर्ष का आगमन और पूरे भारतवर्ष से कर्म योगियों की पदचाप से पाटलिपुत्र की धरती खिल उठी राष्ट्रीय समारोह का उद्घाटन करते हुए बिहार के उपमुख्यमंत्री रेनू देवी ने कहा बाल उड़ाने एवं राष्ट्रीय सम्मान समारोह की आयोजक डॉ नम्रता आनंद को बधाई एवं हौसला अफजाई करती हूं कि पाटलिपुत्र की धरती पर भारत के विभिन्न राज्यों से आए हुए कर्म वीरों का सम्मान करने का आयोजन रखा है खासकर बच्चे जो इस बार उड़ान का हिस्सा बने हैं उनके उज्जवल भविष्य की कामना करती हूं । क्योंकि बच्चों के सुनहरे भविष्य से हम सब का भी भविष्य जुड़ा हुआ है वास्तव में अगर हम बच्चों को हुनर दें उनकी प्रतिभा को तराशे उनमें स्किल डेवलपमेंट दे तो निश्चय ही बच्चे भारत का भाग्य विधाता बनेंगे ।

समारोह के आरंभ में उपमुख्यमंत्री एवं विशिष्ट अतिथियों का माल्यार्पण एवं पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया गया । दीप प्रज्वलन के बाद बच्चों द्वारा स्वागत गान गाया गया । साथ ही संस्था के अध्यक्ष अनिल कुमार वर्मा अवकाश प्राप्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं संस्था की संस्थापिका डाँ नम्रता आनंद ने उप मुख्यमंत्री रेनू देवी, पूर्व केंद्र मंत्री रामकृपाल यादव, राजीव रंजन प्रसाद (प्रवक्ता जदयू ) , विद्यानंद विकल ( चेयरमैन राज्य खाद उद्योग ) नरेश कुमार ( राज्य स्वास्थ्य निदेशक ) पद्मश्री विमल जैन , बी के सिंह प्रदेश अध्यक्ष (रालोसपा), अनिल सुलभ अध्यक्ष (साहित्य सम्मेलन) , मुन्नी देवी (प्रमुख फुलवारी शरीफ ) ई भरत कुमार सिंह ( समाजसेवी ) गौहर अंजुम ( प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ),अखिलेश कुमार सिंह पूर्व अवकाश प्राप्त प्रखंड , शिक्षा पदाधिकारी ( फुलवारी शरीफ ), अनिल कुमार वर्मा ( अवकाश प्राप्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश ) डॉ. भोला पासवान ( महामंत्री बिहार राजपत्रित प्रारंभिक शिक्षक संघ ) को पुष्प गुच्छ सौल और प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किए ।

फाउंडेशन के अध्यक्ष डॉ नम्रता आनंद ने समारोह के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि अपने छात्र जीवन से ही झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले बच्चों के सर्वांगीण विकास हेतु पठन-पाठन लेखन सामग्री वितरण कर गरीब बच्चों के बीच कलात्मक ढंग से कार्यक्रम के द्वारा उचित शिक्षा देने को छत पर ही हूं वर्ष 2007 से नियोजित शिक्षिका राजकीय मध्य विद्यालय सिपारा फुलवारी शरीफ पटना में कार्यरत हूं । बिहार के सरकारी स्कूल के बच्चों में प्रतिभा की कमी नहीं है इसी बात को लेकर एक मुहिम छेड़ी हूँ जिसे सरकारी स्कूल के बच्चों को राष्ट्रीय मंच मिले इस अवसर पर भारत के विभिन्न राज्यों के शिक्षा , चिकित्सा , कृषि , पर्यावरण , पत्रकारिता, समाज सेवा , राजनीति, खेल कूद ,महिला सशक्तिकरण, वन्य जीव संरक्षण आदि के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले महारथियों का स्वागत अभिनंदन किया गया । फिर सिपारा के अंतर्गत सरकारी विद्यालयों के बच्चों द्वारा मनमोहक रंगारंग कार्यक्रम में अतिथियों का दिल जीत लिया । पूरे कार्यक्रम में इन सरकारी स्कूलों के प्रतिभान बच्चों के द्वारा जल – जीवन हरियाली ,साक्षरता , बेटी बचाओं ,बेटी पढाओं , दहेज प्रथा , देश भक्ति , शराब बंदी , कोरोना जागरूकता अभ्यांन आदि कार्यक्रमों आकर्षण का केंद्र मेरठ के 8 वर्षीय बालिका ईया दीक्षित रही जिसें भारत के पराष्टपति रामनाथ कोविंद ने सम्मानित किया ।

इस अवसर पर भारत के विभिन्न राज्यों से शिक्षा , समाज सेवा , चिकित्सा ,कृषि, पर्यावरण ,पत्रकारिता ,महिला सशक्तिकरण, करोना योद्धा , संस्कृति व सांस्कृतिक जगत के धरोहर को बचा के रखने वाले समाजसेवियों को प्रतीक चिंन्ह , शॉल ,और सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया गया ।

कार्यक्रम में मध्य प्रदेश की कटनी से समाजसेवी एडवोकेट मंजूषा गौतम , महाराष्ट्र से अर्चना मेडेवार , अधिकार राव चीनने , शीतल अमित पाटिल , भोपाल से राजीव जैन, प्रियंका जैन , मोनिका जैन ,
दिल्ली से मनीष शर्मा , छत्तीसगढ़ से अल्पना देशपांडे , पश्चिम बंगाल से मनीषा गुप्ता , बिहार से सुधीर मधुकर ,विक्रान्त कुमार , मुकेश हिसारिया , भरत कौशिक , देव कुमार , लाल राजीव ,डॉ. साकेत सेन गुप्ता , प्रेम कुमार , संजय कुमार , आदि को सम्मनित किया गया ।

रिपोर्ट – मीनु राज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0