कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को लेकर मुजफ्फरपुर DM ने किया बैठक, सख्त निर्देश देते हुए कहा लापरवाही बर्दाश्त नहीं

Muzaffarpur DM held a meeting regarding the increasing impact of Corona infection, giving strict instructions, saying that negligence is not tolerated

✍️अरविंद अकेला मुज़फ़्फ़रपुर

Muzaffarpur : बैठक में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों पर प्रभावी नियंत्रण को लेकर विभिन्न कोषांगों की बिंदुवार समीक्षा की गई।

बैठक में टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाए जाने का निर्देश जिलाधिकारी के द्वारा दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि प्रखंड स्तर पर बीडीओ, सीडीपीओ एवं प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को इंवॉल्व किया जाए ताकि टीकाकरण की गति बढ़ाई जा सके। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ एके पांडे ने बताया कि 26 अप्रैल को शाम तक जिले में कुल 222110 लोगों को फर्स्ट डोज का टीका दिया गया जबकि 31990 को सेकंड डोज दिया गया है। इस तरह से जिले में कुल 254100 लोगों का टीकाकरण अभी तक किया गया।

जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि टीकाकरण केंद्रों की संख्या शीघ्र बढ़ाई जाए। उक्त कोषांग के वरीय पदाधिकारी उप विकास आयुक्त ने बताया कि सभी 385 पंचायतों में टीकाकरण करने हेतु माइक्रो प्लान बनाने का निर्देश दे दिया गया है।

वही बैठक में आरटीपीसीआर की जांच रिपोर्ट में विलंब को लेकर जिलाधिकारी द्वारा नाराजगी प्रकट की गई। निर्देश दिया गया कि आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट स- समय उपलब्ध कराई जाए।

वही डेडिकेटेड कोबिड केयर सेंटर ग्लोकल के बारे में डॉ सी०के दास ने जानकारी दी कि अभी तक वहां 31 मरीज भर्ती हैं जिसमें से 8 मरीज को आश्यकता के अनुरूप ऑक्सीजन दिया जा रहा है।बताया कि जल्द ही कुछ स्वस्थ मरीजों को डिस्चार्ज किया जाएगा।

वही अल्पसंख्यक कल्याण छात्रावास को लेकर सिविल सर्जन ने बताया कि वहां सभी आवश्यक तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं।चिकित्सकों की प्रतिनियुक्ति भी कर दी गई।

कोविड-ओपीडी निर्माण की तैयारी को लेकर सिविल सर्जन ने बताया कि अल्पसंख्यक क्षात्रावास के कैम्पस में कोविड ओपीडी कार्य करेगा। उन्होंने बताया कि वहां सारी तैयारियां मुक्कमल कर ली गई है। उनके द्वारा बताया गया कि कल 11 बजे (28 अप्रैल) कोविड ओपीडी का उद्घाटन किया जाएगा।

जिलाधिकारी ने सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि टीम बनाकर निजी अस्पतालों की जांच कराना सुनिश्चित किया जाए।साथ ही निर्देशित किया गया कि कोविड ट्रीटमेंट से संबंधित आवश्यक दवाइयों की उपलब्धता हर हाल में सुनिश्चित की जाय। बैठक में जिले में ऑक्सीजन की उपलब्धता की भी समीक्षा की गई। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि मुजफ्फरपुर जिले के वैसे अस्पताल जो कोविड का इलाज कर रहे हैं प्राथमिकता के आधार पर पहले उन अस्पतालों को ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करें। उन्होंने उप विकास आयुक्त को निर्देशित किया कि ऑक्सीजन का उत्पादन और उसके वितरण पर सतत निगरानी रखी जाए।

बैठक में उप विकास आयुक्त डॉ सुनील कुमार झा, नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय, सहायक समाहर्ता श्रेष्ठ अनुपम, अपर समाहर्ता राजस्व राजेश कुमार, अपर समाहर्ता लोक शिकायत निवारण अशोक कुमार सिंह, अपर समाहर्ता विभागीय जांच ओम प्रकाश, Civil sarjn मुजफ्फरपुर डॉ एस के चौधरी, एसडीओ पश्चिमी डॉ अनिल कुमार दास के साथ स्वास्थ विभाग के वरीय पदाधिकारी गण एवं जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0