मोकामा की मिट्टी में खेलाने,पढ़ने वाले जवान के कश्मीर में शहीद होने की खबर से सदमे में मोकामवासी।

पटना (मोकामा) | कश्मीर में शहीद होने की खबर से सदमे में हैं मोकामावाशी । श्रीनगर में गुरुवार की रात सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच हुए मुठभेड़ में सीआरपीएफ जवान कुलदीप उरांव शहीद हो गए। मोकामा थाना क्षेत्र के मोकामाघाट स्थित सीआरपीएफ कैम्प में रहने वाले कुलदीप उरांव मोकामा इलेवन स्टार फुटबॉल क्लब से फूटबाल खेलते थे।वो एक अच्छे फुटबॉल खिलाड़ी थे और उन्होंने मोकामा के स्थानीय खिलाड़ियों को फुटबॉल सिखाया।उनके नेत्तृव में मोकामा इलेवन स्टार क्लब ने सुनहरा अध्याय लिखा।उनके कश्मीर में शहीद होने की खबर सुनकर उनके साथ खेलने वाले खिलाड़ी सदमे में हैं।

शहीद कुलदीप के याद में सोमवार की शाम राम शरण स्मारक रेलवे एडिड उच्च हाई स्कूल में खिलाड़ियों ने 3 मिनट का मौन धारण कर उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना किये । कुलदीप से फुटबॉल का एबीसीडी सिखने वाले पवन जी कहते हैं की शहीद कुलदीप उरांव न सिर्फ एक अच्छे फुटबॉल खिलाड़ी थे बल्कि वो एक बहुत अच्छे इंसान थे।खेल के अलावा भी वो लोगों को सदा प्रोत्साहित करते रहते थे।शहीद कुलदीप उरांव के पिता घनश्याम उरांव,मोकामा सीआरपीएफ में कार्यरत थे।

शहीद कुलदीप उरांव की पत्नी वंदना उरांव कोलकाता पुलिस में कांस्टेबल हैं।उनका बेटा यश 9 साल का और बेटी वैसी 6 साल की है। मौके पर मुख्य अथिति के तौर पर मोकामा थानाध्यक्ष राजनंदन शर्मा उपस्थित रहें वही कुलदीप के साथ खेलने वाले मित्र दिनेश कुमार ,टुनटुन यादव ,विकास कुमार अनिल आजाद, एवं ग्रामीण अभिभावकों में मदन प्रसाद सिंह , इत्तियाज हुसैन (बिहार फुटबॉल एसोसिएशन , महा सचिव) ,ज्वाला प्रसाद सिंह, पूर्व वार्ड पार्षद जितेंद्र कुमार,पप्पू कुमार सहित दर्जनों खिलाड़ी उपस्थित रहें ।

2 thoughts on “मोकामा की मिट्टी में खेलाने,पढ़ने वाले जवान के कश्मीर में शहीद होने की खबर से सदमे में मोकामवासी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0