लोजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य प्रमोद पासवान ने जमालपुर वासियों के तरफ से रेल मंत्री पियूष गोयल एवं लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान को कहा धन्यवाद

मुंगेर : शुक्रवार को लोक जन शक्ति पार्टी के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य प्रमोद पासवान ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से विगत दिनों लोजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य प्रमोद पासवान के द्वारा दिनांक- 18.02.2020 को एशिया प्रसिद्ध रेल कारखाना जमालपुर के विकास से संबंधित सत्रह सुत्रीय मांगो का मांग पत्र पूर्व रेलवे कोलकाता के महाप्रबंधक महोदय, भारतीय रेलवे बोर्ड के चेयरमैन, भारत सरकार के रेल मंत्री पियूष गोयल एवं लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह जमुई सांसद चिराग पासवान को पत्राचार के माध्यम से अवगत कराते हुए रेल कारखाना जमालपुर के विकास की गुहार लगाइ थी तथा पुन: दिनांक- 28.02.2020 को लोजपा नेता प्रमोद पासवान ने लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान से मिलकर एवं भेंटवार्ता कर मेमोरेन्डम समर्पित किया था। जिस पर लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने कार्रवाई करते हुए दिनांक- 09.07.2020 को भारत सरकार के रेल मंत्री पियूष गोयल को पत्राचार के माध्यम से रेल कारखाना जमालपुर के विकास के लिए सार्थक कदम उठाने के लिए आग्रह किए। जिस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए भारत सरकार के रेल मंत्री पियूष गोयल ने दिनांक- 06.08.2020 को लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान को पत्राचार के माध्यम से रेल कारखाना जमालपुर के विकास के संबंध में आवश्यक कार्रवाई हेतु मांग पत्र को संबंधित निदेशालय भेज देने की बात से अवगत कराया।

जिस पर लोजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य प्रमोद पासवान ने जमालपुर वासियों के तरफ से भारत सरकार के रेल मंत्री पियूष गोयल एवं लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह जमुई सांसद चिराग पासवान को कोटी कोटी धन्यवाद एवं आभार व्यक्त कर भूरी भूरी प्रशंसा करते हुए कहा कि जिस प्रकार लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के पहल पर भारत के रेल मंत्री पियूष गोयल ने रेल कारखाना जमालपुर के विकास से संबंधित मांग पत्र को गंभीरता से लेते हुए आवश्यक कार्रवाई हेतु संबंधित निदेशालय को निर्देश दिया है इससे जमालपुर वासियों के मन में लंबे समय के बाद एक ठोस सकारात्मक आशा एवं उम्मीद जगी है।

उन्होंने कहा कि उनके मांग पत्र पर सार्थक एवं सकारात्मक पहल होती है तो रेल कारखाना जमालपुर पुन: भारत ही नहीं बल्कि एशिया में अपने हुनर का परचम लहराएगा और गौरवशाली इतिहास को कायम करने मे सक्षम होगा। विदित हो कि सत्रह सुत्रीय मांग पत्र में रेल नगरी जमालपुर मे महाप्रबंधक कार्यालय (जीएम ऑफिस हेड क्वार्टर) स्थापित करने, रेलवे एक्ट अप्रेन्टिस उतीर्ण छात्रों को पूर्व की तरह सीधी नियुक्ति प्रक्रिया अपनाने, रेल कारखाना जमालपुर मे कार्यभार (वर्क लोड) बढाते हुए मानव बल (मैन्युअल पावर) बढाने, आऊटसोर्सिंग पर अंकुश लगाने, एनआई (रेलवे सिनेमा) के भूभाग पर अत्याधुनिक पार्क बनाने, रेलवे नं-1 स्कुल के भूभाग पर रेलवे मेन्स कॉलेज एवं रेलवे नं-2 स्कुल के भूभाग पर रेलवे वुमेन्स कॉलेज स्थापित करने, बरौनी जंक्शन एवं न्यु बरौनी जंक्शन के तर्ज पर वाई लेग तक प्लेटफार्म का विस्तारीकरण कर न्यु जमालपुर जंक्शन स्थापित करने, पूर्व रेलवे जमालपुर अस्पताल को AIIMS के तर्ज पर विकसित करने, जुबली वेल स्थित खाली पड़े माल गोदाम के भूभाग पर रेलवे कॉमर्शियल जोन या शॉपिंग कॉम्प्लेक्स निर्माण करने, क्रिकेट खेल स्टेडियम बनाने, रेल कॉलोनियों के क्वार्टर का अत्याधुनिक रूप से मेन्टनेन्स करने (विशेष रूप से समूह ‘घ’ एवं समूह ‘ग’ के रेल कर्मियों के क्वार्टरों का) रेल कॉलोनियों में महिला समिति प्रारंभ करने, पूर्व रेलवे डीजल शेड को विद्युत कार शेड मे विकसित करने।

लंबे समय से कार्य कर रहे केजुअल लेबर /क्वासी स्टाफ को ग्रुप डी मे समायोजन करने, रेलवे के द्वारा आयोजित फेटे मेला को पुन: प्रारंभ करने, रेल हॉकरों को ट्रेड लाइसेंस एवं परिचय पत्र निर्गत करने, एवं स्टेशन रोड से रेलवे गेट नं-6 तक रेल बाउन्ड्री से सटे भाग पर छोटे छोटे दुकान या स्टॉल बनाकर स्थानीय लोग को आवंटित करने से संबंधित है।

रिपोर्ट – विवेक कुमार यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0