रामपुर के सिक्की कला को ग्लोबल टूरिस्ट केंद्र के रूप में विकसित करूंगी : पुष्पम प्रिया चौधरी

सिक्की कला को अंतरराष्ट्रीय पहचान का वादा

मधुबनी : “जो काम आत्मा, हृदय और मन से करता हूँ उसमें आनंद आता है” यह कहना था सिक्की कला के महारथी धीरेंद्र कुमार दास का. प्लुरल्स प्रेसिडेंट पुष्पम प्रिया चौधरी मधुबनी जिले के दो दिवसीय दौरे के पहले दिन प्रखंड पंडौल, पंचायत संकौर्थु के रामपुर सिक्की आर्ट गैलरी सह उत्पादन केंद्र में पहुंची थी.


उपेंद्र नाथ महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान, उधोग विभाग, बिहार सरकार से 2015 और वस्त्र मंत्रालय, भारत सरकार से 2016 में सम्मानित धीरेंद्र कुमार दास सिक्की घास से कलाकृतियों को आकार देने में माहिर हैं. इस सिक्की घास को कतरा झाड़, खस घास के नाम से भी जाना जाता है.
“शिव का विषपान” नामक पहली कलाकृति बनाने वाले दास ने बताया कि इसे नाखून, सेविंग ब्लेड और सर्जिकल ब्लेड की सहायता से निर्मित की जाती है. कलाकार दास ने बताया कि एक कलाकृति को बनाने में 3 दिन का समय लगता है.
अशिक्षित महिलाओं को अपने पैरों पर खड़ा करने के प्रण लेकर चलने वाले धीरेंद्र कुमार 1992 में ट्रेजरी कार्यालय से रिटायर पिता का पैसा लगकर सिक्की कला का काम करना शुरू किया. अभी वर्तमान में 76 महिला और 16 लड़के इनके साथ कार्यशाला में काम करते हैं. अबतक इन्होंने 4500 लोगों को प्रशिक्षण दिया है जो अलग-अलग जगहों पर अपनी कार्यशाला चला रहे हैं.


निफ्ट, पटना, उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान और ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय में अतिथि शिक्षक के रूप में कार्यरत धीरेंद्र कुमार दास ने बताया कि
इस कार्यशाला से साठ हजार रुपये की मासिक बिक्री होती है पर लॉक डाउन के कारण से यह प्रक्रिया बंद है. सरकार की लालफीताशाही से परेशान कलाकार दास ने बताया कि सिक्की कला के कार्यशाला के विस्तारण और कॉमन फैसिलिटी सेंटर ने निर्माण को लेकर प्रस्ताव पास हो गया है परंतु अभी तक यह धरातल पर नहीं आ पाया है. उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि स्कॉलरशिप देकर लोगों को इसमें प्रशिक्षण कराने का प्रयास कराना चाहिए ताकि अधिकतम लोग आत्मनिर्भर बन सके. इन्होंने कहा कि इस कला को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय बाजार से जोड़ने का सांस्थानिक प्रयास करना चाहिए ताकि कलाकारों को अधिकतम लाभ मिल सके.


प्लुरल्स प्रेसिडेंट के आने से आह्लादित कलाकार धीरेंद्र दास बताया कि आपके आने से उनका उत्साह बढ़ गया है.
प्लुरल्स पार्टी के मुख्यमंत्री उम्मीदवार पुष्पम प्रिया चौधरी ने सिक्की कला के क्षेत्र में काम करने वाले रामपुर को अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन के क्षेत्र में विकसित करने और टूरिज्म विलेज बनाने का वादा किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Shares