गायत्री शक्तिपीठ,गया के छः तल्ले प्रस्तावित जीर्णोद्धार भवन का भूमि पूजन कार्य संपन्न

गया:- बसंत पंचमी के पावन अवसर पर रामसागर तालाब के पास स्तिथ गायत्री शक्तिपीठ,गया में विभिन्न लोकोपयोगी कार्य,निःशुल्क विविध प्रशिक्षण,रचनात्मक कार्यक्रम, निःशुल्क चिकित्सा सुविधा,निःशुल्क योग प्रशिक्षण जैसे अन्यान्य कार्यों के लिए शक्तिपीठ निर्माण विस्तारीकरण के लिए भूमि पूजन का कार्य सानंद संपन्न हुआ।जिसे गायत्री परिवार के संस्थापक ट्रस्टी वैद्यनाथ प्रसाद अग्रवाल,मगध प्रमंडल के स्थानीय संरक्षक सर्वश्री विजय शर्मा व शारदानंदन सिंह एवं गायत्री परिवार की समर्पित कार्यकर्ता पुलष्कर कुमार एवं बृजबिहारी शर्मा ने संयुक्त रुप से अपने कर कमलों द्वारा संपन्न किया।
शक्तिपीठ के मीडिया प्रभारी सूरज राउत ने बताया कि गायत्री परिवार के संस्थापक परम् पूज्य गुरुदेव पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य का आध्यात्मिक जन्मदिन हर्षोल्लास के वातावरण में मनाया गया।ज्ञातव्य हो कि बसंत पंचमी गायत्री परिवार के लिए काफी महत्वपूर्ण दिन है।क्योंकि बसंत पंचमी 1926 के दिन गुरुदेव के जीवन में उनके हिमालय वासी गुरुसत्ता का आवतरण हुआ और उनके सारे जीवन को बसंतमय बना दिया।उसी दिन अखण्ड दीपक जला,जो अनवरत आजतक शांतिकुँज में जल रहा है, जिनके सानिध्य में परम पूज्य गुरुदेव ने गायत्री का 24 महापुरश्चरण संपन्न किया,3200 से अधिक सद्साहित्य की रचना की और मिशन के अनेकानेक कार्यों को प्रारंभ किया। इस अवसर पर गया शक्तिपीठ में 24 कुण्डीय यज्ञशाला में लगभग 800 सक्रिय कार्यकर्ताओं के द्वारा कोरोना के विश्वव्यापी संकट निवारण, पर्यावरण संतुलन,राष्ट्र के सर्वागीण विकास आदि के लिए विशेष आहुति प्रदान किया गया।कार्यक्रम के दौरान 51 दीक्षा संस्कार,लगभग 150 विद्यारंभ संस्कार,05 मुंडन संस्कार, 15 नामकरण संस्कार,11 अन्नप्राशन संस्कार,03 मुण्डन संस्कार भी हुआ। कार्यक्रम का मंच संचालन सहायक ट्रस्टी राधेश्याम श्रीवास्तव,विश्वनाथ प्रसाद,सुरभी मिश्रा एवं नेहा मिश्रा ने संयुक्त रुप से किया।कार्यक्रम को सफल करने में गया शक्तिपीठ के सभी ट्रस्टी,मगध युवा प्रकोष्ठ के सभी युवा कार्यकर्ता,कन्या जागृति मंडल की सभी बहनों, जिला एवं उपजोन के संगठन से जुड़े सभी सक्रिय कार्यकर्ताओं की महत्त्वपूर्ण भूमिक !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0