बस्ती में आज भी नाली-गली का काम बाकी, बरसात में घर से निकलने पर मुसीबत

नालंदा । गौरी शंकर प्रसाद । नालंदा जिले के हरनौत प्रखंड की बस्ती पंचायत के बस्ती गांव में वार्ड संख्या दो में लोगों को आज भी नाली-गली का इंतजार है। वार्ड में नल-जल योजना का काम हो चुका है। हालांकि, टंकी लगाने का काम अभी बाकी है। घरों से निकलने वाला पानी निकास के अभाव में रास्ते पर ही गिरता है। बारिश में तो घर से निकलना तक मुश्किल हो जाता है। जानकार बताते हैं कि वार्ड का विकास कार्य मुखिया और वार्ड सदस्यों के बीच विवाद की भेंट चढ़ा है।
वार्ड के गौतम, विनय, रंजीत, चंदन समेत अन्य बताते हैं कि बगल के वार्ड संख्या एक और तीन सब सुविधा से आच्छादित कर दी गई है। पर, हमारा वार्ड राजनीति की भेंट चढ़ गया है।
वार्ड में नाली का निर्माण शुरू हुआ, पर दो-तीन घरों तक ही सिमट कर रह गया। पूछने पर बताया गया कि टेंडर खत्म हो गया है। साठ से सत्तर घरों की बस्ती में तीन सौ से अधिक वोटर हैं। खासकर इस मौसम में बच्चों को घर से निकलने में काफी परेशानी है।
इस संबंध में ग्रामीणों ने सीओ अखिलेश चौधरी का आवेदन देकर काम पूरा कराने की गुहार लगाई है।

वर्चस्व में रुका विकास कार्य
जानकार बताते हैं कि वार्ड के विकास कार्यों के लिए वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति बनाई गई है। इसके द्वारा ही नाली-गली व नल-जल योजना का क्रियान्वयन किया जाना है। पर, पंचायत में इन कार्यों पर दबंगों की मनमानी चलती है। सरकारी कर्मियों की मिलीभगत से मुखिया पुत्र योजना का क्रियान्वयन मनमाने तरीके से करना चाहता है। इसका विरोध वार्ड सदस्यों ने किया है।
वर्तमान में मुखिया पुत्र गौतम सिंह हत्याकांड में जेल में है। इस वजह से भी काम अटक गया है।

क्या कहते हैं अधिकारी

सीओ अखिलेश चौधरी ने कहा कि इस संबंध में जांच करवाकर आवश्यक कार्रवाई की जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Shares