कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके मरीजों से ना बनाएं समाजिक दूरी : सिविल सर्जन

 – सिर्फ शारीरिक दूरी बनाए रखने की है आवश्यकता

  • बातचीत के दौरान 6 फीट की शारीरिक दूरी का रखें ख्याल

सासाराम(रोहतास): कोरोना महामारी ने जैसे ही देश में दस्तक दिया लोगों के बीच भय व्याप्त हो गया। कोरोना के संक्रमण से स्वस्थ्य हो चुके लोगों से शारीरिक दूरी बनाने के साथ साथ लोगों ने सामाजिक और मानसिक दूरी भी बनाना शुरू कर दिया। आज संक्रमित व्यक्ति के ठीक होने के बाद भी लोग उनसे शारीरिक दूरी के साथ-साथ सामाजिक और मानसिक दूरी भी बनाने लगे हैं जिससे समाज में एक नए तरह के भेदभाव की उत्पति होने लगी है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग शुरू से लोगो से अपील करता आया है कि सिर्फ शारीरिक दूरी ही बनाकर रखें, चाहे कोई कोरोना पॉजिटिव हो या ना हो लेकिन कोरोना ने लोगों के दिमाग पर इस कदर असर डाला कि कोरोना उपचाराधीन लोगों  से या ठीक हो चुके लोगों से शारीरिक दूरी के साथ-साथ कहीं-कहीं समाजिक बहिष्कार भी देखने को मिलना शुरू हो गया। ऐसे में ठीक हो चुके लोगों के मन में कुंठा की भावना पनपनी शुरू हो गई है। यह सभी को समझना होगा कि कोरोना महामारी महज एक संक्रामक रोग है जिसमें 6 फीट की शारीरिक दूरी, मास्क पहनना और हाथों की नियमित सफाई रखने से इस महामारी से बचा जा सकता है। 

ठीक हो चुके मरीजों से ना बनाएं समाजिक दूरी : सिविल सर्जन

कोरोना  महामारी से समाज में फैल रहे सामाजिक दूरी और मानसिक दूरी को लेकर सिविल सर्जन डॉक्टर सुधीर कुमार ने कहा कि कोरोना बीमारी में हमें सिर्फ शारीरिक दूरी ही बनाए रखना है चाहे व्यक्ति कोरोना उपचाराधीन हो या ना हो। उन्होंने कहा कि जो कोरोना से ग्रसित व्यक्ति स्वस्थ होकर आम जिंदगी जी रहे हैं उनसे सामाजिक और मानसिक दूरी न बनाकर उनका हौसला बढ़ाएं क्योंकि कोरोना महामारी से स्वस्थ्य होने में इनलोगों ने मजबूत इच्छाशक्ति और संबल का परिचय दिया है. वर्तमान में आवश्यकता है संक्रमण से ठीक हो चुके लोगों का उत्साहवर्धन किया जाये जैसा कि शुरू में देखा जा रहा था. जब कोरोना से मरीज ठीक हो रहे थे तो अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद सभी स्वास्थ्यकर्मी ताली बजाकर और फूलों की वर्षा कर के उन्हें विदा करते थे और उनका मनोबल बढ़ाते थे। उन्होंने कहा कि “आवश्यकता है लोगों को जागरूक करने का कि वे लोग ठीक हो चुके कोरोना संक्रमित व्यक्तियों से सामाजिक एवं मानसिक दूरी न बनाएं। हम सभी का दायित्व बनता है कि ठीक हो चुके कोरोना मरीजों के साथ पहले जैसा ही मित्रवत व्यवहार करें”।

इन बातों का रखें ख्याल:

•व्यक्तिगत स्वच्छता और किसी से बातचीत के दौरान 6 फीट की शारीरिक दूरी का रखें ख्याल

•दिन में कई बार अच्छी तरह हाथ साफ करें

•सार्वजनिक जगहों पर न थूकें

•हमेशा मास्क का उपयोग करें 

•लोगों से हाथ मिलाने से बचें

•अपनी आंख, नाक और मुंह को न छुएं 

•अनावश्यक यात्रा ना करें

•समूह में ना बैठे तथा बड़े समारोह में भाग ना लें 

•सामूहिक भीड़-भीड़ वाले जगह पर ना जाएं

रिपोर्ट-बजरंगी कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0