पांच जुलाई तक करें बीज की सीधी बुआई, जीरो टिलेज से खेती में फायदा अधिक

रिपोर्ट – गौरी शंकर प्रसाद

नालंदा (बिहार) : हरनौत प्रखंड की डिहरी पंचायत में इस बार 42 एकड़ में धान की सीधी बुआई(बोगहा) कर खेती की जायेगी। किसानों की डिमांड पर किसान सलाहकार शंभू कुमार ने उन्हें जीरो टिलेज मशीन उपलब्ध कराई है।


किसान सलाहकार शंभू कुमार ने बताया कि जलवायु परिवर्तन के दृष्टिकोण से बोगहा तरीके से धान की खेती काफी सहुलियत वाली है। जीरो टिलेज मशीन से सूखे खेत में भी धान के बीज की सीधी और पंक्तिबद्ध खेती कर सकते हैं।
आमतौर पर किसान धान की बोगहा तरीके की खेती में बीज को खेत में छींट देते हैं। छिटकवा विधि से बारिश होने पर पानी के बहाव में बीज एक जगह जमा हो सकते हैं। जबकि जीरो टिलेज से बुआई में ऐसी समस्या नहीं होती है।


सीधी बुआई से बिचड़े तैयार करने की जरुरत नहीं होती। बुआई के लिए खेत में कादो की भी जरुरत नहीं होती है। इससे पानी की बचत होती है। खरपतवार कम लगते हैं और लगते भी हैं तो निकालने में आसानी होती है।
पंक्तिबद्ध लगे होने से खड़ी फसल के हवा व पानी से गिरने की समस्या भी नहीं होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0