भागलपुर नगर निगम में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा,निगम परिसर के 100 मीटर दूरी तक धारा 144

भागलपुर । भागलपुर नगर नगम निगम के सभाकक्ष में बुधवार को अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा होना है| वहीं इस दौरान निश्चित रूप से नगर सरकार की अग्निपरीक्षा भी होगी|करो या मरो वाली ऐसी स्थिति में सत्तापक्ष और विरोधियों के बीच देर रात तक शह – मात का खेल चलता रहा| मौजूदा मेयर और उप मेयर के ठिकानों की अगर बात करें तो अहले सुबह तक वाहनों का आना – जाना लगा हुआ था| वहीं वाहनों की गड़गड़ाहट से शायद आसपास के लोग ठीक से सो भी नहीं पाए होंगे| जबकि विरोधी खेमे के कई पार्षद अन्य राज्यों में और कई नेपाल के सुरक्षित स्थानों पर ठहरे हुए हैं| इसी कड़ी में नगर निगम में संभावित भीड़ और हंगामे की आशंका के बीच देर शाम जिलाधिकारी प्रणव कुमार से विमर्श करने के बाद एसडीओ आशीष नारायण ने निगम के चारदीवारी के 100 मीटर दूरी तक धारा 144 लगाने की घोषणा कर दी है| अब इसे में पूर्व में अनुमति प्राप्त किए बिना कोई सभा का आयोजन नहीं होगा और ना ही इस परिधि में बेवजह लोग जमा हो पाएंगे| हालांकि शव यात्रा, शादी में बारात के आवाजाही पर , छात्र – छात्राओं के लिए स्कूल – कॉलेज जाने के दौरान और अनुमति प्राप्त सभा के आयोजन पर किसी प्रकार से रोक नहीं है|

2 दिसम्बर को 28 पार्षदों ने नगर आयुक्त को अविश्वास प्रस्ताव का दिय था पत्र

नगर निगम में नगर सरकार और पार्षदों के बीच उत्पन्न विवाद में एक नया मोड़ तब आया जब पिछले 2 दिसंबर को 28 पार्षदों ने अपना हस्ताक्षर कर अविश्वास प्रस्ताव का पत्र नगर आयुक्त और प्रमंडलीय आयुक्त को दिया| वहीं इस दौरान पार्षदों ने नगर आयुक्त से अविलंब अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए सभा बुलाने की मांग की थी| विरोधी खेमे से मेयर प्रत्याशी के रूप में पार्षद बबीता देवी और उप मेयर के रूप में उमर चांद का नाम प्रस्तावित होने की बातें कही जा रही है| लेकिन दूसरी ओर मौजूदा मेयर सीमा साह और उप मेयर राजेश वर्मा अपने पक्ष में पार्षदों का बहुमत होने का दावा कर रहे हैं|

रिपोर्ट – राहुल राज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0