करोड़पति इंजीनियर को घुस लेते गिरफ्तार करने वाले निगरानी विभाग के दो इंस्पेक्टर को मिलेगा सम्मान

पटना : नोटों की सेज पर सोने वाला पथ निर्माण विभाग के घूसखोर इंजीनियर सुरेश प्रसाद के घर पर रेड करने वाले निगरानी विभाग के दो इंस्पेक्टरों को सम्मान मिलेगा। वैसे तो बिहार के चार पुलिस अधिकारियों को अनुसंधान में उत्कृष्टता के लिए सम्मानित किया जाएगा। लेकिन इन चार अधिकारियों में 2 को करोड़पति इंजीनियर को रंगे हाथ गिरफ्तार करने और सफल अनुसंधान को लेकर सम्मान मिलेगा।

8 जून 2019 को पकड़ा गया था करोड़पति इंजीनियर

आपको बता दें कि 8 जून को पटना के पटेलनगर स्थित इंजीनियर सुरेश प्रसाद के घर पर निगरानी विभाग की छापेमारी हुई थी। जिसमे इंजीनियर 14 लाख घुस लेते गिरफ्तार हुआ था। जब उसके घर की तलाशी ली गयी तो उसके पलंग के नीचे से 2 करोड़ 36 लाख नकद सहित करीब 10 करोड़ की संपत्ति का पता चला था। पथ निर्माण विभाग के ठेकेदार अखिलेश जायसवाल ने निगरानी विभाग में शिकायत दर्ज कराई थी कि इंजीनियर घूस मांग रहा है। इसके बाद निगरानी विभाग ने छापेमारी की थी।

गृह विभाग ने बिहार के 4 अफसरों को चुना

बिहार के चार पुलिस अधिकारियों को अनुसंधान में उत्कृष्टता के लिए सम्मानित किया जाएगा। सभी पुलिस अधिकारियों को केंद्रीय गृह मंत्री का अनुसंधान में उत्कृष्टता के लिए पदक से सम्मानित किया जाना है। हर वर्ष स्वतंत्रता दिवस पर गृह मंत्रालय द्वारा अनुसंधान में उत्कृष्टता हेतु प्रदान किए जाने वाले केंद्रीय गृह मंत्रालय के पदक के लिए इस साल बिहार पुलिस से चार पदाधिकारियों का चयन किया गया है।

इन अधिकारियों को मिलेगा सम्मान

गृह मंत्रालय जिन पुलिस अधिकारियों को सम्मान देगा उनमें हैं- किशनगंज एसपी कुमार आशीष, निगरानी अन्वेषण ब्यूरो में इंस्पेक्टर विनोद कुमार पांडेय, निगरानी इंस्पेक्टर संजीव कुमार और बेगूसराय जिला में पुलिस अवर निरीक्षक विवेक भारती शामिल हैं। बिहार पुलिस मुख्यालय ने यह जानकारी दी है।

पटना से धीरज झा की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0