नहीं रहे कांग्रेस के गांधीवादी नेता रामदेव राय

बेगूसराय । अस्त हो गया आज बिहार राजनीति का एक और सूरज। बछवाड़ा से विधायक रामदेव राय का निधन हो गया है। बताया जा रहा है कि कई दिनों से उनकी तबियत खराब चल रही थी। रामदेव बाबा के निधन से कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं में शोक की लहर दौड़ गई है ।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बछवारा विधायक रामदेव राय के निधन पर कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी, पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल एवं बिहार कांग्रेस अध्यक्ष डॉ मदन मोहन झा ने गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा है कि रामदेव बाबू एक गांधीवादी नेता थे उनके निधन से पार्टी और समाज को अपूरणीय क्षति हुई है।

रामदेव राय 13 वर्ष की उम्र से ही छात्र नेता के रूप में सामाजिक कार्य शुरू कर दिया था। वहीं 29 साल के उम्र में वर्ष 1972 में पहली वार बछवाड़ा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव जीत कर विधानसभा पहुंचे। वहीं विधानसभा में 1973 में उन्हें मंत्री बनाया गया। जनता के बीच लोकप्रियता के कारण वह बछवाड़ा विधानसभा में दूसरी बार भी 1977 में चुनाव जीते।

आपको बता दें कि वर्ष 1980 में जब चुनाव हुआ तो उन्होंने बछवाड़ा विधानसभा से लगातार तीसरी बार चुनाव जीत कर मिसाल कायम की और उन्हें दोबारा मंत्री पद दिया गया। वर्ष 1984 में लोकसभा चुनाव में समस्तीपुर से बिहार के जनप्रिय नेता पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरे और भारी मतों से विजय प्राप्त कर लोकसभा पहुंचे। फिर विधानसभा चुनाव 2005 फरवरी में कांग्रेस पार्टी द्वारा टिकट नहीं मिलने पर बछवाड़ा विधानसभा से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीता।

रिपोर्ट – विक्रांत कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0