सीएम नीतीश कुमार और स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कोविड-19 अस्पतालों का जायजा लिया, कहा – मरीजों के इलाज में कोई कोताही न बरती जाए

सीएम नीतीश कुमार ने पटना में शुक्रवार को कोविड-19 अस्पतालों का लिया जाएजा। मौके पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे भी मौजूद थे।इस दौरान मुख्यमंत्री ने वहां मौजूद डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों से अस्पताल में मरीजों की सुविधा को लेकर कई सारी जानकारियां भी ली। इसके अलावा सीएम नीतीश ने यह निर्देश दिया कि कोविड-19 संक्रमित मरीजों के इलाज में कोई भी कोताही या लापरवाही न बरती जाए।

आपको बता दें कि बिहार में कोविड-19 संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर सात हजार को पार करते हुए 7040 पर पहुंच गया है। अब तक बिहार में कोरोना से 44वीं मौत हुई है। पटना एम्स में 24 घंटे में तीन पॉजिटिव मरीज की मौत हो गयी। मरने वालों में पहला 60 वर्षीय षराफत हुसैन, लहेरिया सराय दरभंगा, 55 वर्षीय लक्ष्मीनीया देवी, लहेरिया सराय दरभंगा, 37 वर्षीय बब्लू सिंह हथिमचक नालंदा निवासी है।

पटना एम्स के नोडल अधिकारी डॉ़. संजीव कुमार ने बताया कि बब्लू सिंह को सेफ्टीसीमिया नामक रोग था। वहीं शराफत हुसैन व महिला लक्ष्मीनिया देवी शुगर के बहुत ही पुराने मरीज थे। इधर तीनों को पटना एम्स ने गाइडलाइन के अनुसार शव को जिला पदाधिकारी को शव सौंप दी गयी है। जिला पदाधिकारी के अपने हिसाब से शव को उसके स्वजारों को सौपेंगे।

विभाग के अनुसार अबतक 4961 संक्रमित मरीज स्वस्थ होकर घर लौट गए। पिछले 24 घंटे में 185 संक्रमित मरीज स्वस्थ हुए। डॉक्टरो ने उन्हें तत्काल होम क्वारंटीइन में रहने का निर्देश दिया। ताकि उन्हें दूसरी बार फिर कोरोना का संक्रमण नही हो जाए।‌ जानकारी के अनुसार राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमित एक्टिव मरीज 1987 है। जबकि राज्य में 4687 प्रवासियों को कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। राज्य में अब रैंडम तरीके से प्रवासियों का सैम्पल एकत्र कर उसकी जांच करायी गयी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0