हरनौत पहुंचे सिविल सर्जन, कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर हुआ मंथन

नालंदा । गौरी शंकर प्रसाद । रविवार को कोरोना जांच में संदिग्धों की सैंपलिंग के लिए पीएचसी में विशेष कैंप लगाया गया। कैंप के विजिट में सिविल सर्जन डॉ रामप्रसाद सिंह भी यहां पहुंचे।


इस दौरान अस्पताल में डॉक्टरों व स्वास्थ्य कर्मियों से कोरोना वायरस फैलाव की रोकथाम के लिए अब तक किये गए कामों का फीडबैक लिया। प्रभारी डॉ राजीव रंजन सिन्हा ने बताया कि प्रखंड में डोर टू डोर संदिग्धों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। इनमें वे परिवार थे, जिनके परिवार के कोई सदस्य दूसरे प्रदेश से आये थे और क्वारेंटाइन सेंटर में रहे थे। इसके अलावा बुजूर्गों,बच्चों,गर्भवती महिला अथवा काफी समय से बीमार लोगों की प्राथमिकता के आधार पर स्क्रीनिंग की गई थी। इनमें अब तक कोरोना के कोई लक्षण नहीं मिले हैं।
सीएस डॉ सिंह ने जिले के कोरोना मुक्त होने तक रुट लेवल के कर्मियों को एक्टिव मोड में रखने का निर्देश दिया है। वे जनप्रतिनिधियों के साथ सामंजस्य बनाकर गांव-टोलों में बाहर से लौटने अथवा संदिग्धों पर नजर बनाये रखेंगे। रोकथाम के लिए आज भी सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का प्रयोग बहुत जरूरी है। खासकर सार्वजनिक स्थानों पर, यात्री वाहनों में लोगों को स्वयं इस ओर जागरुक होना पड़ेगा।
इसके अलावा कोरोना टेस्ट के अन्य विकल्पों पर भी उन्होंने गहन मंथन किया।
इस दौरान प्रबंधक राजेश कुमार, प्रशिक्षक जयराम सिंह, डॉ राकेश रंजन, डॉ अंकिता कुमारी व अन्य मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0