दुमका में उपचुनाव की रफ्तार हुई तेज , JMM पूरी तरह तैयार , बीजेपी ठोक रही हैं टाल

रांची : दुमका उपचुनाव को लेकर सत्तारूढ़ दल जेएमएम की छटपटाहट अब साफ नजर आने लगी है। पार्टी ने इस बाबत केंद्रीय चुनाव आयुक्त को 05 जुलाई से पहले दुमका उपचुनाव कराने का आग्रह किया है। दुमका सीट का दावा ठोक रही जेएमएम की मानें तो चुनाव को लेकर पार्टी पूरी तरह से तैयार है. इधर बीजेपी भी इस सीट को लेकर पूरी तरह डटे हैं ।

राज्य में भले ही दो उपचुनाव होने हैं, लेकिन चर्चा चारों ओर दुमका की हो रही है। दुमका सीट जहां मुख्यमंत्री के लिए खुद प्रतिष्ठा का सवाल है, वहीं बीजेपी बाबूलाल मरांडी के सहारे एक बार फिर यह सीट जीत कर यह दिखाना चाहती है कि जनता आज भी उनके साथ है. और आदिवासी का एक बड़ा धड़ा आज भी बीजेपी का समर्थक है।

पांच साल के शासन के बाद विपक्ष में आई बीजेपी को यह एहसास है कि अगर दुमका सीट वह जीत जाती है तो सारे कार्यकर्ताओं के लिए यह किसी एनर्जी बूस्टर की तरह काम करेगा. लिहाजा पार्टी अपनी पूरी दमखम के साथ जेएमएम के उम्मीदवार के खिलाफ मैदान में उतरेगी ।जेएमएम ने बीजेपी को सलाह दी है कि अपवाद को जनता की पसंद ना माने दुमका हमेशा से जेएमएण का गढ़ रहा है और इस बार भी यह चुनाव एक औपचारिकता मात्र है।

राज्य के मुखिया हेमंत सोरेन और बीजेपी विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी दोनों के लिए दुमका उपचुनाव किसी लिटमस टेस्ट से कम नहीं है. दुमका के सहारे जहां हेमंत सोरेन अपने अनुज बसंत सोरेन के लिए सियासत में सीधे इंट्री चाहते हैं। वहीं बाबूलाल इस सीट को जीतकर बीजेपी के अंदर और बाहर दोनों जगह अपने सियासी कद को बढ़ाना और बनाए रखना चाहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0