कोरोना संकट में बिहार बना अनुकरणीय …

  • दूसरे प्रदेश से लौटे लोगों की हो रही स्किल मैपिंग
  • घर में मिलेगा काम

नालंदा (बिहार) । गौरी शंकर प्रसाद । हरनौत के तेलमर थाना क्षेत्र के भेड़िया गांव निवासी शंभु सिंह की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। मृतक के आश्रितों को सांत्वना के लिए पुर्व शिक्षा मंत्री हरिनारायण सिंह मंगलवार की शाम उनके घर गये। वहां लोगों ने उनसे आश्रितों को चार लाख की मुआवजा राशि दिलाने की मांग की गई। बताया गया कि इससे मृतक के बच्चों की पढ़ाई-लिखाई और परिवार का पालन-पोषण हो सकेगा। विधायक ने परिवार को हर संभव सरकारी सहायता का आश्वासन दिया।
इसके पहले वे पार्टी के द्वारा आयोजित सादे सम्मान समारोह में शामिल हुए। इसमें कोरोना वायरस फैलाव की रोकथाम के लिए लगे लॉकडाउन के दौरान दिन-रात एक करने वाले बीडीओ रवि कुमार, सीओ अखिलेश चौधरी, सीडीपीओ जया मिश्रा, बीईओ उषा कुमारी, प्रभारी डॉ राजीव रंजन सिन्हा, कल्याणबिगहा अस्पताल के प्रभारी डॉ चंद्रभुषण, गोखुलपुर अस्पताल के डॉ सत्येंद्र, डीडीओ अंजु कुमारी, थानाध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह, चेरो ओपी प्रभारी उमाशंकर मिश्रा, कल्याणबिगहा प्रभारी कामेश्वर सिंह, एएनएम बबीता, हरनौत बाजार में कोरोना भंडारा के संचालक प्रदीप कुमार को विधायक ने अंगवस्त्र व फुल-माला देकर सम्मानित किया गया। जदयू की प्रखंड कमेटी के द्वारा आयोजित कार्यक्रम का संचालन प्रखंड अध्यक्ष रविकांत कुमार ने किया।
विधायक ने कहा कि कोरोना संकट काल में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में राज्य के व दूसरे प्रदेशों से लौटे लोगों के लिए जो राहत और बचाव कार्य किये। वह देश के लिए अनुकरणीय हैं। प्रखंड में अब तक कुल 12 लोग कोरोना पॉजीटिव मिले हैं। उनमें सात ठीक होकर घर लौट चुके हैं। उन्होंने शेष के जल्द ठीक होने की कामना की।
बीडीओ रवि कुमार ने कहा कि बाहर से लौटे कामगारों की स्किल मैपिंग करके उन्हें उनके घर के पास ही रोजगार के विकल्प मुहैया कराने के काम किये जा रहे हैं। सीओ अखिलेश चौधरी ने लोगों से अभी-भी सावधानियां बरतने की बात कही।


आयोजन में युवा जिलाध्यक्ष सन्नी पटेल, राम प्रवेश सिंह, रौशन कुमार, ओमनारायण सिंह, रविशंकर ने सक्रिय भूमिका निभाई। जबकि, मंतोष कुमार, सुनील कुमार व अन्य मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0