“चमकी बुखार व बाल श्रम को लेकर पारा विधिक स्वयंसेवक सह टिकाकर्मी ने चलाया जागरूकता अभियान”

रविशंकर मिश्रा

मोतिहारी । सुगौली प्रखण्ड के विभिन्न क्षेत्रों में पारा विधिक स्वयंसेवक सह टिकाकर्मी अवधेश कुमार गुप्ता के नेतृत्व में बाल श्रम व (एईएस) चमकी बुखार के संभावित खतरे को देखते हुए जागरूकता अभियान चलाया गया। ग्रामीणों को जागरूक करते हुए पीएलवी सह टिकाकर्मी अवधेश कुमार गुप्ता ने चमकी बुखार के लक्षण एवं बचाव के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी बच्चों मे होने वाले चमकी बुखार (एईएस) लेकर सभी को जागरूक रहने की आवश्यकता है, चमकी बुखार से पिछले वर्ष राज्य में कई बच्चे पीड़ित हुए थे। पीएलवी गुप्ता ने कहा कि कोई भी आपदा या महामारी सूचना देकर नही आती हैं, हम सभी को हमेशा आपदा या महामारी के आने से पहले चौकन्ना रहने की आवश्यकता है। उन्होंने इस बीमारी के लक्षण की जानकारी दी, उन्होंने के कहा कि पीड़ित व्यक्ति को तेज बुखार होना, बार बार उल्टी होना, काला एवं लाल शरीर मे चतका होना इत्यादि इसके लक्षण हैं। पीएलवी गुप्ता ने कहा की अगर आपके बच्चों में ऐसी कोई भी लक्षण दिखाई दे तो फौरन, अपने आशा कार्यकर्ता, एएनएम, नजदीकी पीएचसी या डॉक्टर से सम्पर्क करें। आप लोग, प्रतिदिन स्नान कर एवं अपने बच्चों को भी प्रतिदिन स्नान कराये, साफ सफाई पर ध्यान दें, साफ सुथरा कपड़ा पहने, ताजा भोजन का सेवन करे, बासी भोजन के सेवन करने से बचें, लोगों से दूरी बनाकर रखें। इसके साथ ही उन्होंने टेली लॉ योजना, पशुपालन, बाल विवाह, बाल श्रम, शराब बंदी, दहेज उन्मूलन, राष्ट्रीय लोक अदालत, किसान सम्मान योजना सहित अन्य सरकारी योजनाओं की महत्वपूर्ण जानकारी दी। इस अभियान के मौके पर, टिकाकर्मी श्री रणधीर कुमार, प्रवीण कुमार, मुन्ना कुमार, शत्रुधन साह, आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0