जिले में कोरोना संक्रमण की प्रसार दर कम होने से प्रशासन ने ली राहत की सांस

प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की तत्परता व लोगो में जागरूकता से कोरोना मरीजों में आई कमी- सिविल सर्जन

जिले में कोरोना की प्रसार दर 7.5 से घट कर 5.5 तक पहुँची

सासाराम(रोहतास): जिले में 21 अप्रैल को मिले पहला कोरोना मरीज के बाद जिले में कोरोना मरीजों की संख्या में जबरदस्त इजाफा हुआ। उसके बाद से प्रतिदिन 30 से 40 कोरोना संक्रमित मरीज मिलना शुरू हो गए। जून-जुलाई के दौरान कोरोना मरीजो की संख्या में जबरदस्त इजाफा हुआ। यह संख्या 150 से 200 प्रतिदिन होने लगा। देखते देखते जिले में कोरोना मरीजो की संख्या 4 हज़ार के पार हो गई। उसके बाद जिला प्रशासन एवं स्वास्थ विभाग द्वारा किए गए प्रयासों एवं लोगों में जागरूकता आने के बाद कोरोना मरीजों की संख्या में काफी गिरावट देखी गई। अगस्त माह शुरू होते ही मरीजों की संख्या में काफी गिरावट देखी गई। 150 से 200 प्रतिदिन का आंकड़ा पहुंच कर 30 से 40 हो गया। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार जून-जुलाई में जिले में जहां कोरोना संक्रमण की प्रसार दर 7.5 प्रतिशत रिकॉर्ड किया गया वही अगस्त आते आते यह दर 5.5 तक पहुंच गया

जिले में अगस्त माह में कोरोना संक्रमण की प्रसार दर में आई कमी

रोहतास जिले में अगर अगस्त माह में कोरोना संक्रमण की प्रसार दर की बात की जाए तो 1 अगस्त 2020 को जिले में कोरोना संक्रमण की प्रसार दर 9.4 रहा वही 27 अगस्त आते आते यह दर 1.2 तक पहुँच गया। इस तरह से अगस्त शुरू होते ही जिले में पॉसिटिव मरीजों की संख्या में कमी आने लगी जिससे जिला प्रशासन के साथ साथ स्वास्थ्य विभाग ने भी राहत की सांस ली है।

आपसी सामंजस्य और मेहनत से लगाया जा रहा है कोरोना पर लगाम:

सिविल सर्जन डॉ. सुधीर कुमार ने बताया रोहतास जिले में कोरोना मरीजों का के संक्रमण दर प्रतिदिन कम होना यह दर्शाता है कि जिले में कोरोना पर नियंत्रण पाया जा रहा है। एक दौर ऐसा था जब जिले में कोरोना संक्रमण की प्रसार दर 7 के ऊपर थी लेकिन अब यह घटकर 5.5 तक पहुंच गयी है और यह राहत की बात है। कोरोना पर नियंत्रण को लेकर सभी की भूमिका अहम रही है चाहे जिला प्रशासन कर्मी हो या स्वास्थ विभाग के कर्मी सभी ने अपनी अहम भूमिका निभाई है। वही अगर लोगो की बात किया जाए तो लोगों में जागरूकता भी संक्रमण प्रसार दर कम होने में एक मुख्य कारक भी माना जा सकता है।

कोविड अनुरूप आचरण अपनाकर रखें खुद को संक्रमण से सुरक्षित:

कोविड अनुरूप आचरण अपनाकर खुद को संक्रमण से बचाया जा सकता है। स्वास्थ्य एंव परिवार कल्याण मंत्रालय के गाइडलाइंस में घर से बाहर भीड़ वाले स्थानों जैसे डेयरी, अस्पताल या दवाई दूकान या ऐसी ही अन्य जगहों पर कम से कम 6 फीट या 2 गज की शारीरिक दूरी रखने के लिए कहा गया है। कार्यस्थलों पर भी इन नियमों के पालन करने के लिए कहा गया है। साथ ही मास्क के इस्तेमाल पर ज़ोर दिया गया है। मास्क संक्रमण की संभावना या श्वसन संबंधी रोगों की रोकथाम के लिए महत्वपूर्ण है। हाथों की साबुन अथवा हैण्डवाश से नियमित सफाई की बात भी गाइडलाइन में बताई गयी है।

रिपोर्ट-बजरंगी कुमार, सासाराम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0