एडिशनल डायरेक्टर ने किया पीएचसी का विजिट

  • जनकल्याण व फील्ड वर्करों के लाभ कार्यक्रमों की समीक्षा की

नालंदा (बिहार) । गौरी शंकर प्रसाद । हरनौत में स्वास्थ्य विभाग के एडिशनल डायरेक्टर ने आज पीएचसी का औचक निरीक्षण किया। इसमें जनकल्याण जैसे प्रसव, टीकाकरण, ओपीडी कार्यों की गहन जांच की। फील्ड वर्करों जैसे आशा व एंबुलेंस कर्मियों के लाभ संबंधित काम की भी समीक्षा की। पीएचसी के छप्परनुमा भवन को देखकर उन्होंने टिप्पणी की कि इसमें इससे ज्यादा और क्या हो सकता है। हालांकि, प्रसव कक्ष, स्थापना कार्यालय, टीकाकरण युनिट की व्यवस्था से वे संतुष्ट दिखे।


एडिशनल डायरेक्टर ने ओपीडी मरीजों से पुछताछ भी की। उनसे अस्पताल में स्वास्थ्य संबंधी सुविधाओं में कोई समस्या आदि के बारे में भी पूछा। चिकित्सकीय परामर्श और दवा आदि मिलने के संबंध में भी चर्चा की।
इसके पहले उन्होंने चिकित्सा पदाधिकारियों व कर्मियों का उपस्थिति पत्रक खंगाला। एंबुलेंस, जेनरेटर का लॉगबुक भी देखा। परिसर में खानपान की व्यवस्था और दवा भंडारण का भी जायजा लिया।


प्रभारी डॉ राजीव रंजन सिन्हा ने बताया कि अधिकारी पीएचसी में उपलब्ध संसाधनों के सदुपयोग से संतुष्ट दिखे। उनकी छानबीन से ऐसा लगा कि कोरोना संकट काल में सरकारी स्वास्थ्य कर्मियों ने कहीं कोई कोताही तो नहीं बरती।
पर, कर्मियों की नियमित उपस्थिति और यहां के लाभुकों की संख्या से वे आश्वस्त दिखे। इसके फलस्वरूप लाभुकों व फील्ड वर्करों को उनके लाभ की योजना का फायदा मिला। इसका भी ब्यौरा लिया।
इस दौरान डॉ राकेश रंजन, डॉ अंकिता कुमारी, स्वास्थ्य प्रबंधक राजेश कुमार, बीसीएम सोनी कुमारी, जयराम सिंह व अन्य मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0