बिहार की एक और बड़ी उपलब्धी, तेल विपणन कंपनियों के टेंडर में बिहार रहा सबसे आगे

Patna : कोरोना और लॉकडाउन के बावजूद इथेनॉल उद्योगों की स्थापना के लिए अप्रत्याशित निवेश प्रस्ताव हासिल करने के बाद बिहार ने एक और बड़ी सफलता हासिल की है। इथेनॉल खरीद के लिए तेल कंपनियों द्वारा जारी टेंडर में बिहार की प्रस्तावित इथेनॉल इकाईयों ने सबसे ज्यादा संख्या में भाग लिया। पूरे देश से 197 प्रस्तावित इथेनॉल इकाईयों ने 17 सितंबर 2021 को संपन्न हुए टेंडर में भाग लिया। इनमें से सर्वाधिक 29 प्रस्तावक बिहार से हैं, जिन्होंने सालाना 187 करोड़ लीटर इथेनॉल सप्लाई की दावेदारी पेश की है। इस बड़ी सफलता की जानकारी बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने सोमवार को उद्योग संगठन लघु उद्योग भारती के वार्षिक प्रादेशिक सम्मेलन सह आमसभा में भाग लेते हुए दी। 

सोमवार को पटना में लघु उद्योग भारती का वार्षिक प्रादेशिक सम्मेलन सह आमसभा का आयोजन हुआ जिसकी अध्यक्षता बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने की। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्रीय कार्यवाह मोहन सिंह, लघु उद्योग भारती के प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र प्रसाद सिंह, अखिल भारतीय अध्यक्ष बलदेव भाई प्रजापति, अखिल भारतीय महामंत्री गोविंद लेले, अखिल भारतीय संगठन मंत्री प्रकाश चंद्र, अखिल भारतीय संयुक्त महामंत्री सुधीर दाते, मंत्री काशीनाथ सिंह और संगठन से जुड़े कई उद्यमी शामिल रहे।

पूरे राज्य से लघु उद्योग भारती संगठन से जुड़े उद्योग जगत के लोगों को संबोधित करते हुए बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि बिहार देश के उद्योगपतियों का भरोसा जीतने में अप्रत्याशित रुप से कामयाब रहा है। बिहार देश में सबसे तेज गति से निवेश प्रस्ताव हासिल करने वाले राज्यों में शामिल हो गया है। 

उन्होंने लघु उद्योग भारती संगठन से जुड़े सभी उद्यमियों से अपील की कि आप उद्योग और उद्योगमंत्री के बीच में सेतू का काम करें। जहां कहीं कोई संभावना हो, उसकी जानकारी हम तक पहुंचाएं और कहीं उद्योगों को लेकर कोई दिक्कत हो तो वो भी हमें बताएँ। हमारा एक ही मकसद है कि किसी भी हाल में बिहार में औद्योगिक क्रांति सफल होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि बिहार की इथेनॉल पॉलिसी न सिर्फ बिहार के लिए बल्कि पूरे देश के लिए नजीर बन गई हैं। बिहार के इथेनॉल पॉलिसी को दूसरे राज्यों में भी पढ़ा और समझा जा रहा है। 

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि उद्योग क्षेत्र में बिहार अव्वल साबित हों। इसलिए पूरी ताकत से बिहार की एनडीए सरकार जुटी हुई है। उन्होंने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहतरीन मार्गदर्शन और सहयोग से अभी तक निवेश प्रस्ताव हासिल करने में जबरदस्त कामयाबी मिली है और आगे भी उनका पूर्ण सहयोग मिलता रहेगा।

लघु उद्योग भारती संगठन के कार्य़क्रम को संबोधित करते हुए शाहनवाज हुसैन ने ये जानकारी भी दी कि इथेनॉल पॉलिसी की सफलता के बाद बिहार अब अत्यंत आकर्षक टेक्सटाइल और लेदर पॉलिसी लेकर आने वाला है। उऩ्होंने कहा बिहार में टेक्सटाइल और लेदर प्रक्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं। बिहार की ड्राफ्ट टेक्सटाइल और लेदर पॉलिसी के बारे में जानकारी साझा करते हुए बिहार के उद्योग मंत्री ने कहा कि इस पॉलिसी के आते ही एक बार फिर बिहार में निवेश के लिए अप्रत्याशित रुझान मिलेंगे, इसका उन्हें पूरा भरोसा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0