बेलदौर थाना के तीन एसआई के वर्दी पर लग सकता है धब्बा, फरार वारंटियों के साथ एसआई का फोटो वायरल

Khagaria : बेलदौर थाना के तीन एसआई का फोटो फरार वारंटियों के साथ वायरल हो रहा है।जिसमें पुलिस के वर्दी पहने एसआई महानंद चौधरी, पंकज प्रकाश, के साथ एक और अन्य एसआई बेला नोवाद गांव के नीतीश कुमार नागर के दुकान में खाने-पीने का इंतजाम कर मौज मस्ती लेते हुए दिखाई दे रहे हैं। जानकारी के मुताबिक बेलदौर थाना कांड संख्या 82/21 दिनांक 19/08/2021 के नामजद अभियुक्त बेला नोवाद के पूर्व सरपंच शशि शर्मा सहित कई लोगों का नाम बेलदौर थाना कांड संख्या 82/21 में दर्ज है।इसी मामले को लेकर बेलदौर थाना के पुर्व थाना अध्यक्ष शिव कुमार यादव अपने पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर जांच करने के लिए 19/8/21 को पहुंचे थे की ग्रामीणों के आक्रोश का सामना उन्हें करना पड़ा ग्रामीणों के द्वारा पुलिस एवं पुलिस गाड़ी पर पत्थरबाजी किया गया था जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल भी हुए थे एवं पुलिस गाड़ी भी क्षतिग्रस्त हुआ था एवं बेलदौर थाना के एसआई महानंद चौधरी गंभीर रूप से घायल हो गए थे जिसका इलाज लगभग 1 महीने तक चला। जिसमें बेलदौर थाना में रह चुके थाना अध्यक्ष ने कांड संख्या 81/21 दर्ज करते हुए दर्जनों ग्रामीणों को नामजद अभियुक्त भी बनाया है। उसी कांड के नामजद अभियुक्त के साथ बेलदौर थाना के तीनों एसआई मामला को रफा-दफा करने हेतु एक गुप्त बैठक बुलाए थे जिसमें मोटी रकम लेनदेन की बातें सामने आ रही है। उक्त सभी बात वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया जैसे हैं उक्त सभी लोग वहां से निकलने लगा तो गेट पर सीसीटीवी कैमरे को देखा तो पुलिस वाले का दिमाग घूम गया और किसी भी बात को बाहर लीक होने से बचने के लिए सीसीटीवी कैमरे लेकर वे सब थाने चले गए जहां सभी सबूत को मिटाने का प्रयास किया गया लेकिन उसी में से एक फोटो वायरल हो गया जो अब उन लोगों के लिए गले का फंदा बनते जा रहा है। अब आप अंदाजा लगा सकते हैं कि जिस पुलिस के जिम्मे कानून के रखवाली करने का जिम्मा हो,जिसके जिम्मा कानून को रखवाली करने का जिम्मा सौंपा गया है, वही कानून का ध्वजी उड़ा रहे हैं इससे साबित हो रहा है कि पुलिस अगर किसी के उपर मामला दर्ज करते हैं तो वह सिर्फ दिखावा है, बेबुनियाद है, भ्रामक है,इन्हीं लोगों के द्वारा झूठा मुकदमा दर्ज कर झूठा आरोप लगाते हुए कुछ पत्रकारों को भी तंग तबाह करने की बातें सामने आ रही है। हालांकि उक्त मामला खगड़िया के तेज तर्रार एसपी अमितेश कुमार के संज्ञान में चला गया है अब देखना है कि किया खगड़िया एसपी अमितेश कुमार अपने अधीनस्थ कार्य कर रहे एसआई पर कुछ कार्रवाई करते हैं या फिर मामला को निपा पोती कर, रफा-दफा करते हैं यह तो आने वाला समय ही बताएगा लेकिन तत्काल पुलिस की वर्दी पर धब्बा तो लग ही गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0