पटना पुलिस ने किया संदिग्ध लूट कांड का खुलासा कंपनी के कर्मी ने हीं रची थी साजिश – SSP Patna

Patna : पश्चिम बंगाल के अंकित मेटल एंड पावर लिमिटेड कंपनी के पटना स्थित कार्यालय में 57लाख 49 हजार रुपए लूट कांड का पटना पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज होने के महज 24 घंटे के भीतर खुलासा कर दिया है। इस मामले में कंपनी के ही एक कर्मचारी रवि भास्कर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उसका दूसरा साथी अभी फरार है।पटना के एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने गुरुवार को कोतवाली थाना में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी दी।एस एस पी ने बताया कि 1 सितंबर को पुलिस को सूचना मिली थी कि अंकित अंकित मेटल एंड पावर लिमिटेड दुर्गापुर पश्चिम बंगाल के एग्जीबिशन रोड स्थित कार्यालय में उनके स्टाफ से तीन अज्ञात अपराध कर्मियों द्वारा 57 लाख ₹49000 की राशि लुट ली गई है।

एसएसपी ने खुद इस मामले की जांच पड़ताल शुरू की और तत्काल नगर पुलिस अधीक्षक मध्य के नेतृत्व में एक एस आई टी इस कांड के खुलासे के लिए लगाया गया इस टीम में टाउन डी एस पी और गांधी मैदान के एस एच ओ शामिल थे। अनुसंधान के दरमियान यह ज्ञात हुवा की कंपनी के कर्मचारी रवि भास्कर ने ही साजिश के तहत इस कथित लूट की घटना को अंजाम दिया है ।इस संदर्भ में गांधी मैदान थाना कांड संख्या 448 / 21 दिनांक 8 सितंबर को भा द वि की धारा 394 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई। महज 24 घंटे के भीतर पुलिस ने रवि भास्कर को अपनी गिरफ्त में लिया और इस कांड का खुलासा हो गया।

रवि ने कुबूल किया कि इस कांड का मुख्य साजिशकर्ता वह स्वयं है। मालिक और पुलिस को चकमा देने के लिए लूट के षड्यंत्र को इसने ही रचा था। रवि की निशानदेही पर रवि के भाई के किराए के लॉज कदम कुआं थाना क्षेत्र के बुद्ध मूर्ति के पास से 39 लाख ₹80000 नगद बरामद कर लिया। रवि ने बताया कि बाकी रुपये उसने अपने चचेरे साला को दे दिया है। रवि के दूसरे साथी की गिरफ्तारी के लिए उसके संभावित ठिकाने पर छापामारी कर रही है। एसएसपी ने बताया कि पिछले वर्ष भी इस कंपनी का 4000000 रूपया ब्लू किए जाने का मामला सामने आया था परंतु कंपनी द्वारा इस संबंध में पुलिस को कोई सूचना नहीं दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0