उप विकास आयुक्त ने अलौली में पीसीसीपी पदाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों को दिया स्वच्छ एवं निष्पक्ष निर्वाचन कराने का निर्देश

सुबह 7:00 बजे से शाम 3:00 बजे तक मतदान का समय निर्धारित

प्रवीण कुमार प्रियांशु की रिपोर्ट

Khagaria : उप विकास आयुक्त अभिलाषा शर्मा ने अलौली प्रखंड के पीसीसीपी डिस्पैच सेंटर पर पंचायत आम निर्वाचन 2021 के नौवें चरण में मतदान कार्य में लगाए गए पीसीसीपी पदाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों की ब्रीफिंग की एवं उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिए। विदित हो कि खगड़िया जिला में नौंवें चरण में अलौली प्रखंड के 12 पंचायतों भिखारी घाट, हरिपुर, सिमराहा, गौड़ाचौक, सहसी, हथवन, मेघौना, शहरबन्नी, चेराखेरा, रामपुर अलौली, रौन और आनंदपुर मारन में दिनांक 29.11.21 को मतदान की तिथि निर्धारित है। इन पंचायतों में 194 मतदान केंद्र/सहायक मतदान केंद्र बनाए गए हैं। शांतिपूर्ण एवं स्वच्छ निर्वाचन हेतु 30 सेक्टर पदाधिकारी, 8 जोनल पदाधिकारी, 4 सुपर जोनल अधिकारी एवं 100 पीसीसीपी पार्टी को लगाया गया है। उप विकास आयुक्त ने मतदान हेतु ईवीएम उपलब्ध कराने के अवसर पर उपस्थित सभी पीसीसीपी दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारियों को मतदान के दौरान उनकी भूमिका की विस्तार से जानकारी देते हुए उन्हें उनके कर्तव्यों से भी अवगत कराया। उप विकास आयुक्त ने राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी दिशानिर्देशों का शत-प्रतिशत अनुपालन करते हुए स्वच्छ एवं शांतिपूर्ण तरीके से मतदान प्रक्रिया संपादित कराने का भी निर्देश दिया।
उप विकास आयुक्त ने अवगत कराया कि शांतिपूर्ण, स्वतंत्र एवं निष्पक्ष मतदान संपन्न कराना सभी का संवैधानिक दायित्व है। इस दायित्व के निर्वहन में कोई भी चूक या लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। भूलवश की गई लापरवाही को भी जानबूझकर किया गया चूक माना जाएगा और कार्रवाई की जाएगी। मतदान कार्य में प्रतिनियुक्त कर्मियों की अनुपस्थिति को गंभीरता से लेते हुए उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
उप विकास आयुक्त ने सभी पीसीसीपी को ससमय संबद्ध मतदान केन्द्रों पर ईवीएम पहुंचाने के निर्देश दिये, ताकि समय पर मॉक पोल पूरा करते हुए सुबह 7:00 बजे पूर्वाह् से मतदान प्रारंभ किया जा सके। अलौली में इस बार मतदान दुर्गम पंचायतों में हो रहा है, जहां पहुंचने में कठिनाई हो सकती है क्योंकि ये बाढ़ प्रभावित पंचायतें हैं। उप विकास आयुक्त ने ऐसे पंचायतों के पीसीसीपी एवं पुलिस पदाधिकारियों को जल्दी छोड़ने का निर्देश दिया, ताकि वे नदी पार करके संबद्ध मतदान केंद्रों पर समय से पहुंच सकें। उप विकास आयुक्त द्वारा सभी पीसीसीपी मजिस्ट्रेट को निर्देशित किया गया कि मतदान केन्द्र पर पहुंचने के साथ ही इसकी सूचना अपने सेक्टर पदाधिकारी तथा जिला कंट्रोल रूम को देना सुनिश्चित करेंगे। पूरी कोशिश करनी है कि मतदान प्रक्रिया को निर्धारित समय 3:00 अपराह्न तक पूरा करते हुए बाजार समिति स्थित ईवीएम कलेक्शन सेंटर को प्रस्थान कर जाना है। उप विकास आयुक्त ने इस अवसर पर पीसीसीपी पदाधिकारियों से इस संबंध में भी फीडबैक लिया कि उन्हें मतदान केंद्रों पर जाने और वापस ईवीएम कलेक्शन सेंटर में आने में कोई परेशानी तो नहीं होती है। उन्होंने पीसीसीपी पदाधिकारियों को राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देश के अनुसार निष्पक्ष एवं स्वच्छ मतदान कराने का निर्देश दिया। पीसीसीपी दंडाधिकारियों को निर्देश दिया गया कि उन्हें एक मतदान केंद्र पर स्टैटिक हो जाना है और स्टेटिक मजिस्ट्रेट के रूप में भी काम करना है।उप विकास आयुक्त द्वारा ब्रीफिंग के पश्चात ईवीएम के साथ मतदान केन्द्र के लिये पीसीसीपी दंडाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों को रवाना किया गया। सभी पीसीसीपी के साथ वाहन कोषांग द्वारा वाहन टैग किया गया था, जिसके द्वारा वे संबद्ध मतदान केंद्रों को रवाना हुए। नौवें चरण के दौरान मतदान हेतु सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। सभी मतदान केंद्रों पर पुलिस बल प्रतिनियुक्त किया गया है। इसके अलावा मोटरसाइकिल पर भी पुलिस की टीम विभिन्न मतदान केंद्रों का भ्रमण सतत रूप से करती रहेगी और किसी भी शॉर्ट नोटिस पर गड़बड़ी की सूचना वाले मतदान केंद्र पर पहुंच सकती है। सभी मतदान केन्द्रों पर सुबह 7:00 से शाम 3:00 बजे तक मतदान का समय निर्धारित है। सभी मतदान केन्द्रों के 200 मीटर की परिधि में धारा 144 लगाया गया है। मतदाताओं की पहचान करने के लिए बायोमेट्रिक सिस्टम के साथ कर्मियों को सभी मतदान केंद्रों पर प्रतिनियुक्त किया गया है। उन्होंने हेल्प डेस्क, वाहन प्रबंधन कोषांग का भी भ्रमण किया एवं यथायोग्य निर्देश संबंधित पदाधिकारियों एवं कर्मियों को दिए। डिस्पैच सेंटर पर पार्टी संख्या से बुथ टैगिंग चार्ट पीसीसीपी पार्टी की सुविधा के लिए लगाया गया था। आदेश वितरण की व्यवस्था टेबलवार क्रम संख्या के आधार पर की गई थी। इस अवसर पर निदेशक, डीआरडीए मो० शहादत हुसैन, अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी मोहम्मद शफीक, प्रखंड विकास पदाधिकारी खगड़िया श्री मनीष कुमार, आपदा सलाहकार श्री प्रदीप कुमार सिंह एवं पीसीसीपी कर्मी एवं पुलिस पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0