अनेक साहित्यकारों को मिला प्रेम नाथ खन्ना स्मृति सम्मान

लक्ष्मी शंकर बाजपेयी और डॉ ममता किरण को सामयिक परिवेश का प्रेमनाथ खन्ना स्मृति सम्मान

प्रेम नाथ खन्ना पुरस्कार से सम्मानित किए गए साहित्यकार

Patna : साहित्यिक सामाजिक संस्था सामयिक परिवेश द्वारा बिहार उद्यमी संघ के विक्रमशिला सभागार में आयोजित साहित्य समागम कार्यक्रम में कवि डॉ लक्ष्मी शंकर बाजपेयी, डॉ ममता किरण व श्योराज सिंह बेचैन को प्रेम नाथ खन्ना स्मृति सम्मान प्रदान किया गया। सामयिक परिवेश के इस कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि दूरदर्शन,बिहार के निदेशक डॉ राज कुमार नाहर, वरिष्ठ साहित्यकार डॉ शिवनारायण एवं ममता मेहरोत्रा द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत नीतू कुमारी नवगीत द्वारा गाए गए माँ सरस्वती वंदना हुई। सामयिक परिवेश की राष्ट्रीय अध्यक्ष ममता मेहरोत्रा ने कहा कि संस्था 2015 से देश भर से चुने गए वरिष्ठ साहित्यकार व कवियों को यह सम्मान देती आ रही है। आज संस्था के द्वारा दिल्ली के अंतरराष्ट्रीय कवि डॉ लक्ष्मी शंकर बाजपेयी, डॉ ममता किरण व श्योराज सिंह बेचैन को अंगवस्त्रम, स्मृति चिन्ह व पौधा देकर सम्मानित किया गया । इस अवसर पर चर्चित साहित्यकार डॉ शिवनारायण, ममता मेहरोत्रा, समीर परिमल, संजीव मुकेश, रूबी भूषण, पूनम सिन्हा श्रेयसी व डॉ सुधा सिन्हा आदि की उपस्थिति रही। सामयिक परिवेश संस्था की सम्मानित सदस्य प्रख्यात लोकगायिका नीतू कुमारी नवगीत को विश्व हिंदी सचिवालय में व्याख्यान देने तथा मॉरीशस के रामायण सेंटर में बिहार के लोकगीतों की शानदार प्रस्तुति के लिए विशेष सम्मान प्रदान किया गया। लोक गायिका नीतू कुमारी नवगीत ने अपनी मॉरीशस यात्रा के संस्मरण उपस्थित श्रोताओं के साथ साझा किया। कार्यक्रम में संस्था की संस्थापिका व अध्यक्ष ममता मेहरोत्रा की अद्यतन पुस्तक ‘एम्पावरिंग इंडियन वीमेन’ की एक-एक प्रति भी समस्त उपस्थित विद्वतजनों को प्रदान की गयी। यह पुस्तक घरेलू हिंसा से जुड़े हुए केसों के निष्पादन के लिए गठित भारत की पहली महिला हेल्पलाइन से जुड़े हुए अनुभवों पर आधारित है। कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार डॉ शिवनारायण ने की। मंच संचालन संस्था की समन्वयक श्वेता मिनी ने किया। इस अवसर पर संस्था की पत्रिका सामयिक परिवेश के संपादक व ग़ज़लकार समीर परिमल, ई-सामयिक परिवेश के संपादक व कवि संजीव मुकेश, संस्था की समन्वयक श्वेता मिनी सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे। आयोजन के दूसरे सत्र में कवि गोष्ठी का आयोजन हुआ जिसमें कवियों की रचनाओं पर खूब तालियाँ बजी।

दूसरे सत्र में कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसमें कवियों की रचनाओं पर खूब तालियां बजी। युवा शायर अक्स समस्तीपुरी, रूबी भूषण, पूनम सिन्हा श्रेयसी, रेखा भारती, राज कांता, पंकज प्रियम, डॉ सुधा सिन्हा ने अपनी रचनाओं की अमिट छाप छोड़ी। लोक गायिका नीतू कुमारी नवगीत ने अनेक लोक गीतों की प्रस्तुति करके उपस्थित लोगों के मन को मोहा। उनके साथ भोला कुमार ने तबला पर, सुजीत कुमार ने हारमोनियम पर और मनोज कुमार ने खंजरी पर संगत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares
0